बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

दो असलहा फैक्ट्री का भंडाफोड़

Hamirpur Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
हमीरपुर। जिले की पुलिस ने बिवांर थानाक्षेत्र के अलग अलग गांवों में छापामार कर दो असलहा फैक्ट्रियां का भंडाफोड़ किया है। सात लोगों को गिरफ्तार कर 15 असलहे बरामद किए। जिसमें बिवांर थाना पुलिस ने एक दर्जन तैयार असलहों के साथ दो बनाने वाले और दो खरीदने वालों को मौके से गिरफ्तार किया। एसओजी प्रभारी ने दो को गिरफ्तार कर तीन तमंचे और उपकरण बरामद किए। पुलिस अधीक्षक ने एसओ बिवांर व एसओजी प्रभारी की टीमों को 5 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की।
विज्ञापन

बिवांर थानाक्षेत्र के अतरार गांव में असलहा फैक्ट्री की जानकारी मिलने पर थानाध्यक्ष इंद्रमणि वर्मा ने रविवार को करीब डेढ़ बजे गांव निवासी सेवादास के मकान पर छापा मारा। मकान से नौ तमंचे व एक 315 बोर रायफल मिली। पुलिस ने असलहा बनाने के उपकरण बरामद करने के साथ मिस्त्री सेवादास और उसके भतीजे बद्री प्रसाद को असलहा बनाते पकड़ा। जबकि असलहा खरीदने आए इसी थानाक्षेत्र के कल्ला निवासी जगदेव और अतरार निवासी कामता प्रसाद धुरिया को एक-एक तमंचे के साथ गिरफ्तार किया।

उधर इसी थानाक्षेत्र के लरौंद गांव में एसओजी प्रभारी जमीरूल हसन ने अपनी टीम के साथ घर में छापा मारकर बाबूराम निषाद और उसके भाई राममिलन को शस्त्र बनाते गिरफ्तार किया। पुलिस ने यहां से तीन तैयार असलहे और तमंचे अधबने , नाल और शस्त्र बनाने के उपकरण बरामद किए।
पुलिस अधीक्षक सैय्यद वसीम अहमद ने प्रेसवार्ता में बताया कि पकड़ा गया आरोपी सेवादास पहले ही शस्त्र बनाने के मामले में जेल जा चुका है। जबकि खरीददार जगदेव सजा याफ्ता आरोेपी है और मौजूदा समय में जमानत पर बाहर है। बताया कि उन्हें जिले में तमंचों से हो रही घटनाओं से ऐसी आशंका थी कि कहीं न कहीं शस्त्र बनाए जा रहे हैं। इस पर उन्होंने सभी थाना प्रभारियों को अपराध समीक्षा बैठक में कड़े निर्देश दिए थे। उन्होंने थाना प्रभारी इंद्रमणि वर्मा और एसओजी प्रभारी जमीरूल हसन को संयुक्त रूप से 5 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us