विज्ञापन

सूखा राहत बैठक में नदारद रहे अफसर

Hamirpur Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
मौदहा (हमीरपुर)। उपजिलाधिकारी प्रबुद्ध सिंह की तहसील स्तरीय सूखा राहत बैठक से पावर कारपोरेशन, जलनिगम व मौदहा बांध से संबंधित अधिकारी नदारद रहे। जिनके विरुद्ध कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी को लिखा गया है। वही राजस्व विभाग द्वारा किए गए पेयजल की स्थिति के सर्वेक्षण में 1446 कुंओ में 529 कुएं सूख गए है जबकि 5491 हैंडपंप में 442 खराब हैं। वहीं 111 सरकारी नलकूपो में 26 खराब बताए गए।
विज्ञापन
सूखा राहत की इस बैठक में कसबे के उच्चीकृत अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डा.अनिल सचान ने बताया कि सभी एनएएम को कुएं में ब्लीचिंग डाले जाने के निर्देश दिए है। जबकि मुस्करा व मौदहा के पशु चिकित्साधिकारी ने बताया कि गलाघोंटू की वैक्सीन आ चुकी है। उधर नलकूप विभाग के अवर अभियंता अशोक कुमार ने अपने दो नलकूप भी खराब बताए। अरतरा का नलकूप नं. एमजी 102 केबिल फाल्ट होने से व मकरांव का एमजी 6 पूरी तरह ठप होने की बात कही। जब उनसे कहा कि अकेले अरतरा गांव में 25 में 9 नलकूप खराब है। तो उन्होंने कहा कि वह उसकी पूरी जानकारी प्राप्त करके इन्हें ठीक करा देंगे। हालांकि राजस्व विभाग ने मौदहा में 87 नलकूपो में 24 खराब बताए गए है और मुस्करा के 24 में 2 खराब है। हालंाकि क्षेत्र में कुआें व तालाबों की स्थिति अधिक खराब है। तहसील क्षेत्र के कुल कुआें 1446 में 529 सूख गए है। इनमें मौदहा सर्किल के 752 में 387 सूखे कुुंए है। जबकि मुस्करा क्षेत्र के 694 में 142 कुंए सूखे है। तालाबो की स्थिति मौदहा सर्कि ल की सबसे खराब है। तहसील क्षेत्र मे 403 तालाब है। जिनमें 117 तालाब सूख चुके है। अकेले मौदहा सर्किल में 168 में 63 सूखे है। उपजिलाधिकारी प्रबुद्ध सिंह ने बताया कि सूखा राहत के तहत पेयजल पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पशु चारे की समस्या हुई तो इसके लिए अभी से ही स्वास्थ्य विभाग ने चारा बैंक स्थापित करने के लिए न्याय पंचायत स्तर पर स्थान चिन्हित कर रहे हैं। आज की बैठक में नलकूप विभाग द्वारा भरे गए पोखर, तालाबों की संख्या देखी गई है। लघु डाल सिंचाई द्वारा 60 तालाब व 38 पोखर भरे जाने की सूचना दी। आवश्यकता पड़ने पर पानी के टैंक भी कसबे में लगाए जाएंगे। कसबे में 272 हैंडपंपो में सिर्फ 37 हैंडपंप ही खराब हैं। इस बैठक में बीडीओ मौदहा भालचंद्र त्रिपाठी व मुस्करा के एडीओ काशीराम सहित प्रभारी तहसीलदार जगदीश पटेल व संबंधित क्षेत्रो के कानूनगो मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

एमपी गजब है, शराब की बोतलों पर लगाए गए वोट देने के विज्ञापन

मध्यप्रदेश की भी अजीब कहानी है। एमपी के झाबुआ में जिला प्रशासन ने शराब की बोतलों पर ‘मतदाता जागरूकता’ के स्टीकर चिपकाने के आदेश दे दिए। आदेश के बाद शराब की सभी बोतलों पर ‘मतदाता जागरूकता’ के पर्चे चिपका भी दिए गए।

21 अक्टूबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree