बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

जरा सी चूक से 80 बच्चों की जिंदगी खतरे में

Hamirpur Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
मौदहा (हमीरपुर)। छिमौली मार्ग स्थितकांशीराम आवासीय कालोनी में प्राथमिक विद्यालय के लिए 8 बाई 8 के दो कमरों में 80 बच्चों को भूसे की तरह बैठाकर पढ़ाया जा रहा है। इन्हीं कमरों से लगे किचन में मिडडे मील बनाया जा रहा है। कभी भी जरा सी लापरवाही या गैस लीकेज से 80 बच्चों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है. बच्चों के मुताबिक मिड डे मील का राशन भी पूरा नहीं आ रहा है। इस अव्यवस्था के खिलाफ कालोनी के लोगों में गुस्सा है।
विज्ञापन

छिमौली मार्ग स्थित कांशीराम आवासीय कालोनी में 376 परिवार है। बेसिक शिक्षा विभाग ने 8बाई8 के दो कमराें वाले आवासीय भवन में प्राथमिक स्कूल चलाया जा रहा है। इसी कमरे से लगा छोटा सा किचन है। जिसमें मिड डे मील का भोजन बनाया जाता है, जहां गैस सिलेंडर भी रखा हुआ है। भोजन बनाने के लिए दो रसोइया है। इस विद्यालय में 80 बच्चे पंजीकृत है लेकिन इनके पढ़ाने को एक शिक्षक है। गर्मी के दिनों में इन छोटे छोटे कमराें में पढ़ाई के लिए बच्चों को ठूंसा जाता है। इनके लिए बीते माह तक 50 किलो चावल और 25 किलो गेहूं आया जो मात्र 10 दिन के लिए है। अब मिड डे मील का राशन बढ़ाकर 47 किलो गेहूं व 133 किलो चावल मिलने लगा है, जो मात्र 60 बच्चों के लिए है। विद्यालय में अभी तक छात्रवृत्ति नहीं दी गई। यहां बनने वाला विद्यालय का निर्माण अभी शुरू नहीं हो सका है। अध्यापक मोहम्मद फहीम सिद्दीकी को नगर पालिका परिषद के चुनाव के लिए बीएलओ भी बना दिया है। इस अव्यवस्था के चलते कालोनी अध्यक्ष अब्दुल मकसूद उर्फ लाला व राकेश श्रीवास सहित लोगों में रोष है। इन्होंने स्कूल का शीघ्र निर्माण व शिक्षामित्र की नियुक्ति की मांग की है। नगर शिक्षा प्रभारी का कार्य करने वाले वरिष्ठ अध्यापक मोइद अहमद ने बताया कि स्कूल निर्माण के लिए धन आवंटित हो गया है और इसके निर्माण कार्य शीघ्र कराने का प्रयास किया जा रहा है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us