आढ़तियों के गेहूं तुलाई के विरोध किसानों का हंगामा

Hamirpur Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
राठ(हमीरपुर)। मंडी समिति में मंगलवार को आढ़तियों का गेहूं तौले जाने के विरोध में किसानों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। किसानों ने केंद्र प्रभारी के खिलाफ जमकर हंगामा किया और गेहूं की तुलाई रुकवा दी। बवाल की सूचना पर एसडीएम और तहसीलदार मौके पर पहुंचे और नंबर के आधार पर किसानों का गेहूं तौलवाने के निर्देश दिए। इसके बाद किसानों का गुस्सा शांत हुआ।
मालूम हो कि गल्ला मंडी स्थिति खरीद केंद्रों में किसानों के गेहूं की तुलाई न होकर आढ़तियों के खरीदे गए गेहूं की तुलाई हो रही थी जबकि तीन दिन से किसान ट्रैक्टर ट्राली लेकर गेहूं बेचने के लिए खड़े हैं। कमीशन खोरी की वजह से केंद्र प्रभारी आढ़तियों के गेहूं की तुलाई करा रहे हैं। मंगलवार सुबह करीब दस बजे से क्षेत्रीय सहकारी समिति के केंद्र प्रभारी ने चट्टे पर रखे गेहूं की तुलवाई शुरू करा दी। बगैर नंबर और टोकन गेहूं तुलवाई होने पर किसानों ने विरोध करना शुरू कर दिया। इस पर भी तुलवाई नहीं रुकी तो किसानों ने हंगामा काटना शुरू कर दिया। चन्द्रप्रकाश बहगांव, रामचरन कुर्रा, ब्रजेंद्र कुमार, वीरेंद्र मसगांव सहित एक दर्जन से अधिक किसानों ने जमकर हंगामा किया। जिससे केंद्र पर हो रही तुलाई रोकनी पड़ी। किसानों ने बताया कि 21 नंबर गेहूं की तुलाई होनी थी जबकि केंद्र प्रभारी बादल ने 27 नंबर गेहूं की तुलाई शुरू करा दी। किसानों ने बताया कि तौले जा रहे गेहूं का न तो टोकन था और न ही रसीद । गेहूं किसी आढ़ती का था। एसडीएम उमेश कुमार मंगला और तहसीलदार ने मामले की जांच कर नंबर के आधार पर गेहूं तुलाई के निर्देश दिए। किसानों ने एसडीएम को बताया कि रात के समय इन केंद्रों पर खुलेआम आढ़तियों के गेहूं की तुलाई की जाती है। आढ़तियों से 50 से 100 रुपए प्रति बोरा के हिसाब से कमीशन लिया जाता है।
15 दिन हो गया पर गेहूं तुलाई का नंबर नहीं आया
राठ(हमीरपुर)। पीसीएफ गेहूं खरीद केंद्र पर पिछले दो दिन से खरीद ठप है। केंद्र पर खडे़ दर्जनों किसान गेहूं तुलवाने के लिए परेशान हैं। किसानों के गेहूं की खरीद ठप होने से किसान अपना माल औने पौने दामों पर आढ़तियों के यहां बेच रहे हैं। सैदपुर गांव के किसान संतोष कुमार, दीवानपुरा के होशियार सिंह का आरोप है कि केंद्र प्रभारी दिलशाद नशे में पड़ा रहता है। दिन के समय किसानों के गेहूं की तुलाई न करा रात में आढ़तियों के गेहूं की तुलाई कराई जाती है। किसान विवेक नगाइच दीवानपुरा के परिजन ने बताया कि गेहूं बेचने के लिए 15 अप्रैल को उनकी पर्ची काटी गई थी। आज तक उनके गेहूं की तुलाई नहीं हुई है। वह 15 दिन से केंद्र के सामने डेरा डाले हैं।

Spotlight

Related Videos

40 दिनों तक खेली जाने वाली होली की हुई रंगों भरी शुरुआत

कान्हा की नगरी मथुरा में सोमवार को होली महोत्सव की धूमधाम से शुरूआत हो गई।चालीस दिनों तक चलने वाले होली महोत्सव का आगाज गोकुल के रमणरेती गुरु शरणानंद के आश्रम से शुरु हुआ।

20 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen