विज्ञापन

आढ़तियों के गेहूं तुलाई के विरोध किसानों का हंगामा

Hamirpur Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
राठ(हमीरपुर)। मंडी समिति में मंगलवार को आढ़तियों का गेहूं तौले जाने के विरोध में किसानों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। किसानों ने केंद्र प्रभारी के खिलाफ जमकर हंगामा किया और गेहूं की तुलाई रुकवा दी। बवाल की सूचना पर एसडीएम और तहसीलदार मौके पर पहुंचे और नंबर के आधार पर किसानों का गेहूं तौलवाने के निर्देश दिए। इसके बाद किसानों का गुस्सा शांत हुआ।
विज्ञापन
मालूम हो कि गल्ला मंडी स्थिति खरीद केंद्रों में किसानों के गेहूं की तुलाई न होकर आढ़तियों के खरीदे गए गेहूं की तुलाई हो रही थी जबकि तीन दिन से किसान ट्रैक्टर ट्राली लेकर गेहूं बेचने के लिए खड़े हैं। कमीशन खोरी की वजह से केंद्र प्रभारी आढ़तियों के गेहूं की तुलाई करा रहे हैं। मंगलवार सुबह करीब दस बजे से क्षेत्रीय सहकारी समिति के केंद्र प्रभारी ने चट्टे पर रखे गेहूं की तुलवाई शुरू करा दी। बगैर नंबर और टोकन गेहूं तुलवाई होने पर किसानों ने विरोध करना शुरू कर दिया। इस पर भी तुलवाई नहीं रुकी तो किसानों ने हंगामा काटना शुरू कर दिया। चन्द्रप्रकाश बहगांव, रामचरन कुर्रा, ब्रजेंद्र कुमार, वीरेंद्र मसगांव सहित एक दर्जन से अधिक किसानों ने जमकर हंगामा किया। जिससे केंद्र पर हो रही तुलाई रोकनी पड़ी। किसानों ने बताया कि 21 नंबर गेहूं की तुलाई होनी थी जबकि केंद्र प्रभारी बादल ने 27 नंबर गेहूं की तुलाई शुरू करा दी। किसानों ने बताया कि तौले जा रहे गेहूं का न तो टोकन था और न ही रसीद । गेहूं किसी आढ़ती का था। एसडीएम उमेश कुमार मंगला और तहसीलदार ने मामले की जांच कर नंबर के आधार पर गेहूं तुलाई के निर्देश दिए। किसानों ने एसडीएम को बताया कि रात के समय इन केंद्रों पर खुलेआम आढ़तियों के गेहूं की तुलाई की जाती है। आढ़तियों से 50 से 100 रुपए प्रति बोरा के हिसाब से कमीशन लिया जाता है।
15 दिन हो गया पर गेहूं तुलाई का नंबर नहीं आया
राठ(हमीरपुर)। पीसीएफ गेहूं खरीद केंद्र पर पिछले दो दिन से खरीद ठप है। केंद्र पर खडे़ दर्जनों किसान गेहूं तुलवाने के लिए परेशान हैं। किसानों के गेहूं की खरीद ठप होने से किसान अपना माल औने पौने दामों पर आढ़तियों के यहां बेच रहे हैं। सैदपुर गांव के किसान संतोष कुमार, दीवानपुरा के होशियार सिंह का आरोप है कि केंद्र प्रभारी दिलशाद नशे में पड़ा रहता है। दिन के समय किसानों के गेहूं की तुलाई न करा रात में आढ़तियों के गेहूं की तुलाई कराई जाती है। किसान विवेक नगाइच दीवानपुरा के परिजन ने बताया कि गेहूं बेचने के लिए 15 अप्रैल को उनकी पर्ची काटी गई थी। आज तक उनके गेहूं की तुलाई नहीं हुई है। वह 15 दिन से केंद्र के सामने डेरा डाले हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

एमपी गजब है, शराब की बोतलों पर लगाए गए वोट देने के विज्ञापन

मध्यप्रदेश की भी अजीब कहानी है। एमपी के झाबुआ में जिला प्रशासन ने शराब की बोतलों पर ‘मतदाता जागरूकता’ के स्टीकर चिपकाने के आदेश दे दिए। आदेश के बाद शराब की सभी बोतलों पर ‘मतदाता जागरूकता’ के पर्चे चिपका भी दिए गए।

21 अक्टूबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree