विज्ञापन
विज्ञापन

चीनी उत्पादन में गोल्ड मेडलिस्ट मिल उपेक्षित

Bhadohi Updated Tue, 04 Sep 2012 12:00 PM IST
औराई। चीनी उत्पादन में कभी गोल्ड मेडल हासिल कर प्रदेश में परचम लहराने वाली औराई स्थित दी काशी सहकारी चीनी मिल अपने हाल पर आंसू बहा रही है। इससे जिले के ही नहीं पड़ोसी जिलों के गन्ना किसानों को परेशानी उठानी पड़ रही है। मिल ठप होने से गन्ने की खेती के प्रति किसानों का मोह कम हो गया। लिहाजा गन्ना उत्पादन पर असर पड़ गया है। जिले के जन प्रतिनिधियों ने प्रदेश सरकार में भी प्रतिनिधित्व किया और वर्तमान में सभी विधायक सत्ता पक्ष के हैं। इसके बाद भी चीनी मिल की बदहाली दूर करने का प्रयास नहीं किया जा रहा है। कभी पूर्वांचल की शान कही जाने वाली चीनी मिल अब अपमान झेल रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
1250 कुंतल प्रतिदिन गन्ना पेराई की क्षमता वाली चीनी मिल 2006 में बंद हो गई। छह वर्ष से मिल के बंद होने से बेकार पड़ीं मशीनों के कल-पुर्जें जंक खाने लगे हैं। इसके अलावा चीनी मिल के अधिसंख्य कर्मचारी वीआरएस लेकर बाहर में नौकरी करने लगे हैं। छह वर्ष से बंद पड़ी चीनी मिल को चलाने में अब लंबी प्रक्रिया से गुजरना होगा, लेकिन जिस तरह से उदासीनता है, इससे चालू होने के आसार नहीं दिख रहा है। चार दशक पूर्व जिस तरह की चीनी मिल की स्थापना पूर्व केंद्रीय और विकास पुरुष पं. श्यामधर के अथक प्रयास से हो गया था। इस तरह की चीनी मिल बनवाने में वर्तमान में अरबों रुपये की लागत आएगी। इसके बाद भी इस तरह के कल पुर्जे मशीन मिलने की संभावना कम ही है। बताया जाता है कि स्थापना के बाद चालू होने पर चीनी मील ने गन्ने की पेराई और चीनी उत्पादन में रिकार्ड बनाया था। चीनी मिल होने से जिले में भी गन्ने की अच्छी खेती होती थी। इससे किसान गन्ने की खेती कर अच्छा मुनाफा कमाते थे, मिल में गन्ना जमा करने पर उन्हें भुगतान भी तत्काल किया जाता था।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के अन्य चीनी मिलों में अक्तूबर 2012 से पेराई का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। चीनी मिलों में गन्ना पेराई प्रारंभ होने का यही सत्र होता है, लेकिन औराई दी काशी सहकारी चीनी मिल को चलाने के लिए अब तक कोई पहल नहीं की गई है। यहां तक कि बीते विधानसभा चुनाव में औराई से चुनाव लड़ने वाले सभी दलों के अलावा निर्दल प्रत्याशियों ने चीनी मिल के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था। यहां तक कि सपा प्रत्याशी मधुबाला पासी ने भी चीनी मिल को चुनाव में प्रमुखता दी थी लेकिन, सकारात्मक ढंग से पहल न होने की वजह से चीनी मिल की हालत में सुधार होने की संभावना नहीं दिख रही है।

पहल की गई है: मधुबाला
औराई। सपा विधायक श्रीमती मधुबाला पासी का कहना है कि शासन स्तर से चीनी मिल चालू कराने की पहल शुरू कर दी गई है। अगर प्रक्रिया समय पर पूरी हो गई तो मिल शीघ्र ही चालू हो जाएगी क्योंकि छह वर्षों से बंद पड़ी मिल को अधिकारिक स्तर से चालू कराने का प्रयास जारी है।

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

अलीगढ़ के रोडवेज दफ्तर में छलके जाम, वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अलीगढ़ डिपो में कर्मचारियों के शराब पीने का वीडियो हुआ वायरल। देखें वीडियो।

21 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election