विज्ञापन
विज्ञापन

डीए पर आंशिक प्रतिबंध की समीक्षा की उठी मांग

Bhadohi Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
भदोही। उधारी कालीन निर्यात में आंशिक प्रतिबंध से नई समस्या खड़ी हो गई है। केंद्र सरकार द्वारा डीए पर बैन लगाए मुश्किल से कुछ माह ही बीते हैं कि अब यह निर्यातकों को रास नहीं आ रहा है। अखिल भारतीय कालीन निर्माता संघ (एकमा) के भूतपूर्व अध्यक्ष, हाजी शौकत अली अंसारी ने कहा कि या तो सीधे प्रतिबंध लगना चाहिए और किसी को भी निर्यात करने की छूट ना हो अथवा इसकी तत्काल समीक्षा होनी चाहिए।
विज्ञापन
विज्ञापन
जानकारी हो कि एकमा सहित विभिन्न संगठनों ने पिछले तीन साल क्लीन डीए पर प्रतिबंध लगाने के लिए संघर्ष किया। बार बार वस्त्र मंत्रालय से इसकी न केवल गुहार लगाई गई बल्कि कई बार प्रतिनिधिमंडल जाकर वस्त्र और वाणिज्य मंत्रालय के अधिकारियों से मिला। बड़ी मुश्किल से वर्षों बाद सरकार ने डीए पर आंशिक प्रतिबंध लगाते हुए ईसीजीसी कवर के साथ तथा विदेशों में शोरूम रखने वाले निर्यातकों को डीए पर निर्यात करने की छूट दे दी। इस कानून के लागू होने के माह के भीतर ही इसके दुष्प्रभाव सामने आने लगे।
हाजी शौकत अली अंसारी ने कहा कि नई व्यवस्था में धनाढ्य निर्यातक अपना शोरूम खोलने लगे हैं ताकि उन पर प्रतिबंध लागू न हो। इसके अलावा बड़े निर्यातक काफी हद तक ईसीजीसी कवर लेकर अपना काम तो धड़ल्ले से कर रहे हैं लेकिन मझोले निर्यातकों की समस्या बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि पिछले दो महीनों में मझोले निर्यातक खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं जबकि देखा जा रहा है कि बड़े निर्यातकों को काम पहले की तरह ही चल रहा है। उन्होंने डीए पर प्रतिबंध की समीक्षा करने की सीईपीसी और केंद्र सरकार से मांग की है।

इंटस्ट्री जैसा कहेगी वैसा होगा
फोटो-53 (सिद्धनाथ सिंह)
भदोही। डीए पर प्रतिबंध लगवाने में कालीन निर्यात संवर्धन परिषद (सीईपीसी) की खास भूमिका रही थी। वह भी जब सीईपीसी चेयरमैन पद पर मिर्जापुर के कालीन निर्यातक, सिद्धनाथ सिंह बने तब। पूर्व एकमाध्यक्ष द्वारा प्रतिबंध की पुन: समीक्षा करने और इससे लघु निर्यातकों को होने वाले नुकसान की बात बताने पर सिद्धनाथ सिंह ने कहा कि मैंने वही किया जो इंडस्ट्री की मांग थी। यदि इंडस्ट्री संतुष्ट नहीं हो वह दोबारा प्रतिनिधित्व करे।
श्री सिंह ने कहा कि इंडस्ट्री की ओर से डीए पर प्रतिबंध की मांग वर्षों से लंबित थी। मैंने चेयरमैन पद संभालते ही इसे प्राथमिकता के साथ हल कराया। उन्होंने कहा कि अब यदि इंडस्ट्री इसकी पुन: समीक्षा चाहती है तो मैं तैयार हूं।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

आज का पंचांग : 20 अप्रैल 2019, शनिवार

शनिवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग शनिवार 20 अप्रैल 2019.

20 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election