सृष्टि के निर्माण के साथ हुई वेदों की उत्पत्ति

Bhadohi Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
कौलापुर। डीघ विकास खंड के सुजातपुर में गीता सेवा समिति के तत्वावधान में चल रहे श्रीमद्भागवत कथा में पं. राकेश पांडेय जी महाराज ने कहा कि मुनि कुमारों के द्वारा श्राप मिलने पर उनकी मुक्ति के लिए पंडितों द्वारा यह सुझाव दिया गया कि राजा परीक्षित को श्रीमद्भागवत कथा का पान कराने पर मुक्ति अवश्य संभव है।
इसी दौरान शुकदेव को आते देख ऋषि खड़े हो गए और राजा परीक्षित को कथा सुनाने का आग्रह किया। शुकदेव राजा परीक्षित को कथा सुनाने के लिए राजी हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि भगवान की कथा अनंत है और आज तक इसे कोई नहीं कह सका है और न कोई जान सका है। मगर हे राजन मैं जितना सुना हूं और जितना जानता हूं उतना आपसे कहता हूं। जब काल के अंत में कुछ न दिखा चारों तरफ जल ही जल था तब प्रभु का जन्म होता है। उन्हें विचार आता है कि सृष्टि का संचार किया जाए। अपनी नाभी से कमल प्रकट किया और कमल के ऊपर ब्रह्मा जी विराजमान थे। ब्रह्मा जी ने कहा कि मैं क्या करूं। आवाज आई आप जप और तप करो। आज्ञा पाकर ब्रह्मा ने वैसा ही किया। इसके बाद उन्हें ब्रह्म ज्ञान प्राप्त हुआ और वह सृष्टि के निर्माण के लिए तत्पर हो जाते हैं। सृष्टि के निर्माण में सबसे पहले वेदों की उत्पत्ति की। इस मौके पर पंकज तिवारी, मनोज तिवारी, दिनेश तिवारी, हिमांशु, प्रियांशु, श्वेता, डाली आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: राब‌र्ट्सगंज में निकली शोभायात्रा, जमकर थिरके श्रद्धालु

सोनभद्र जिले के राब‌र्ट्सगंज अंबेडकर नगर स्थित कड़े शीतला माता के 7वें स्थापना दिवस पर शोभ यात्रा निकाली गई। ये शोभा यात्रा सुबह 10.30 बजे मंदिर से निकलकर अंबेडकर नगर, सिनेमा हाल रोड, पन्नूगंज रोड और पकरी नहर से होते हुए वापस मंदिर जा पहुंची।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper