विज्ञापन

सृष्टि के निर्माण के साथ हुई वेदों की उत्पत्ति

Bhadohi Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
कौलापुर। डीघ विकास खंड के सुजातपुर में गीता सेवा समिति के तत्वावधान में चल रहे श्रीमद्भागवत कथा में पं. राकेश पांडेय जी महाराज ने कहा कि मुनि कुमारों के द्वारा श्राप मिलने पर उनकी मुक्ति के लिए पंडितों द्वारा यह सुझाव दिया गया कि राजा परीक्षित को श्रीमद्भागवत कथा का पान कराने पर मुक्ति अवश्य संभव है।
विज्ञापन
विज्ञापन
इसी दौरान शुकदेव को आते देख ऋषि खड़े हो गए और राजा परीक्षित को कथा सुनाने का आग्रह किया। शुकदेव राजा परीक्षित को कथा सुनाने के लिए राजी हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि भगवान की कथा अनंत है और आज तक इसे कोई नहीं कह सका है और न कोई जान सका है। मगर हे राजन मैं जितना सुना हूं और जितना जानता हूं उतना आपसे कहता हूं। जब काल के अंत में कुछ न दिखा चारों तरफ जल ही जल था तब प्रभु का जन्म होता है। उन्हें विचार आता है कि सृष्टि का संचार किया जाए। अपनी नाभी से कमल प्रकट किया और कमल के ऊपर ब्रह्मा जी विराजमान थे। ब्रह्मा जी ने कहा कि मैं क्या करूं। आवाज आई आप जप और तप करो। आज्ञा पाकर ब्रह्मा ने वैसा ही किया। इसके बाद उन्हें ब्रह्म ज्ञान प्राप्त हुआ और वह सृष्टि के निर्माण के लिए तत्पर हो जाते हैं। सृष्टि के निर्माण में सबसे पहले वेदों की उत्पत्ति की। इस मौके पर पंकज तिवारी, मनोज तिवारी, दिनेश तिवारी, हिमांशु, प्रियांशु, श्वेता, डाली आदि मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

‘बीजेपी के खिलाफ पड़े वोट, जनता ने कांग्रेस को दिया स्पष्ट बहुमत’

राजस्थान में कांग्रेस की जीत साफ नजर आ रही है। युवा नेता सचिन पायलट ने कहा कि जनता ने बीजेपी के विधायकों के लिए निगेटिव वोटिंग की है और हम एक सोच वाली पार्टियों के साथ सम्पर्क में हैं जो बीजेपी की सत्ता को उखाड़ फेंकना चाहती हैं।

11 दिसंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election