डीपीसी की बैठक टलने से प्राचार्य के दावेदारों को झटका

Bhadohi Updated Tue, 14 Aug 2012 12:00 PM IST
ज्ञानपुर। प्रदेश भर के राजकीय महाविद्यालयों में खाली पड़े प्राचार्य के पदों को भरने के लिए जुलाई तक होने वाली विभागीय प्रोन्नति कमेटी (डीपीसी) की बैठक स्थगित होने से प्राचार्य बनने का सपना देख रहे तमाम शिक्षकों को झटका लगा है। यह बैठक दिसंबर से पहले नहीं कराई गई तो कई दावेदार प्राचार्य पद का सुख लिए बिना ही रिटायर्ड हो जाएंगे। प्राचार्य पद की दौड़ में चल रहे शिक्षकों के लिए मुसीबत से कम नहीं है।
प्रदेशभर में लगभग डेढ़ सौ राजकीय महाविद्यालय हैं। करीब 60 महाविद्यालय प्रभारी प्राचार्य के भरोसे चल रहे हैं। जो कि पिछली बार हुई डीपीसी से बने प्राचार्यों के सेवानिवृत्त होने से रिक्त चल रहे हैं। फरवरी 2009 में हुई डीपीसी से प्रदेश के लगभग सौ शिक्षकों की प्रोन्नति प्राचार्य पद पर हुई थी। इनमें भदोही में केएनपीजी से आधा दर्जन शिक्षक प्राचार्य बने थे। लगभग इतने ही इस बार भी केएनपीजी के शिक्षक प्राचार्य बनने के तगड़े दावेदार हैं। अब डीपीसी से वरिष्ठता सूची जारी करने की प्रक्रिया में जितनी देर होगी, उसी तरह से शिक्षक प्राचार्य बनने से वंचित होते रहेंगे। उच्च शिक्षा विभाग की ओर से हर दो वर्ष पर डीपीसी की बैठक कराकर वरिष्ठता सूची जारी की जाती है, लेकिन इस बार डीपीसी की बैठक को हुए साढ़े तीन वर्ष बीत चुके हैं। इस संबंध में राजकीय महाविद्यालय शिक्षक संघ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. जेपी मिश्रा का कहना है कि विधानसभा चुनाव के बाद से ही बैठक करा कर वरिष्ठता सूची जारी करने की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान विभिन्न कारणों से डीपीसी टलती रही थी।

Recommended

Spotlight

Related Videos

VIDEO: अटल जी के जाने पर ऐसे गमगीन है उनकी कर्मभूमि के लोग

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर उनकी कर्मभूमि यानी यूपी के बलरामपुर के लोग शोक में डूबे हुए हैं। यहां संघ भवन से लकर हर जगह लोग अपने-अपने तरीके से अटल जी को श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

18 अगस्त 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree