आपका शहर Close

डीपीसी की बैठक टलने से प्राचार्य के दावेदारों को झटका

Bhadohi

Updated Tue, 14 Aug 2012 12:00 PM IST
ज्ञानपुर। प्रदेश भर के राजकीय महाविद्यालयों में खाली पड़े प्राचार्य के पदों को भरने के लिए जुलाई तक होने वाली विभागीय प्रोन्नति कमेटी (डीपीसी) की बैठक स्थगित होने से प्राचार्य बनने का सपना देख रहे तमाम शिक्षकों को झटका लगा है। यह बैठक दिसंबर से पहले नहीं कराई गई तो कई दावेदार प्राचार्य पद का सुख लिए बिना ही रिटायर्ड हो जाएंगे। प्राचार्य पद की दौड़ में चल रहे शिक्षकों के लिए मुसीबत से कम नहीं है।
प्रदेशभर में लगभग डेढ़ सौ राजकीय महाविद्यालय हैं। करीब 60 महाविद्यालय प्रभारी प्राचार्य के भरोसे चल रहे हैं। जो कि पिछली बार हुई डीपीसी से बने प्राचार्यों के सेवानिवृत्त होने से रिक्त चल रहे हैं। फरवरी 2009 में हुई डीपीसी से प्रदेश के लगभग सौ शिक्षकों की प्रोन्नति प्राचार्य पद पर हुई थी। इनमें भदोही में केएनपीजी से आधा दर्जन शिक्षक प्राचार्य बने थे। लगभग इतने ही इस बार भी केएनपीजी के शिक्षक प्राचार्य बनने के तगड़े दावेदार हैं। अब डीपीसी से वरिष्ठता सूची जारी करने की प्रक्रिया में जितनी देर होगी, उसी तरह से शिक्षक प्राचार्य बनने से वंचित होते रहेंगे। उच्च शिक्षा विभाग की ओर से हर दो वर्ष पर डीपीसी की बैठक कराकर वरिष्ठता सूची जारी की जाती है, लेकिन इस बार डीपीसी की बैठक को हुए साढ़े तीन वर्ष बीत चुके हैं। इस संबंध में राजकीय महाविद्यालय शिक्षक संघ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. जेपी मिश्रा का कहना है कि विधानसभा चुनाव के बाद से ही बैठक करा कर वरिष्ठता सूची जारी करने की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान विभिन्न कारणों से डीपीसी टलती रही थी।
Comments

स्पॉटलाइट

बचपन से एक दूसरे को जानते हैं विराट-अनुष्का, ऐसे हुई थी इनकी पहली मुलाकात

  • सोमवार, 11 दिसंबर 2017
  • +

Bigg Boss 11: विकास ने अर्शी के साथ मिलकर रची साजिश, मास्टर माइंड के प्लान से नॉमिनेट हुए ये सदस्य

  • सोमवार, 11 दिसंबर 2017
  • +

PHOTOS: ‌बिन बताए विराट-अनुष्का ने कर ली शादी, यहां जानें कब-क्या हुआ?

  • सोमवार, 11 दिसंबर 2017
  • +

शादीशुदा हीरो पर डोरे डाल रही थी ये एक्ट्रेस, पत्नी ने सेट पर सबके सामने मारा चांटा

  • सोमवार, 11 दिसंबर 2017
  • +

सर्दियों में ट्रेडिंग है ओवरकोट, हर ड्रेस के साथ इन सेलिब्रिटीज की तरह कर सकते हैं मैच

  • सोमवार, 11 दिसंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!