बेटे को बचाने आई वृद्धा को पीटकर मार डाला

Bhadohi Updated Mon, 13 Aug 2012 12:00 PM IST
ज्ञानपुर/सुरियावां। थानाक्षेत्र के पकरी खुर्द गांव में रविवार को एक वृद्धा की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। वृद्धा अपने पुत्र को बचाने के लिए हमलावरों से लड़ गई थी। घटना के बाद दोनों आरोपी फरार हो गए। इस घटना से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एहतियात के तौर पर गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। मृतका के पुत्र की तहरीर पर दो लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा पंजीकृत कराया गया है।
पकरी खुर्द गांव निवासी शरद सिंह उर्फ करिया पुत्र स्व. बृजराज सिंह का गांव के ही दो युवकों कल्लू कहार और पप्पू यादव से किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था। दोनों युवक करिया को दो दिन से मारने-पीटने के लिए धमकी दे रहे थे। आरोप है कि एक दिन पहले महजूदा बाजार में भी तमंचा सटाकर करिया को आतंकित किया गया था और एक-दो दिन में जान से मारने की धमकी दी गई थी। रविवार की सुबह नौ बजे दोनों आरोपी करिया के घर में घुस गए और करिया और उसकी पत्नी की पिटाई करने लगे। यह देख उसकी मां गंगा देई (70) उनसे जूझ गई। इसके बाद वे दोनों करिया को छोड़कर उसकी मां की ही बेरहमी से पिटाई करने लगे। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद दोनों आरोपी फरार हो गए। घटना की जानकारी होते ही पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर सुरियावां थानाध्यक्ष और पाली चौकी इंचार्ज मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस घटना से पूरे गांव में तनाव व्याप्त हो गया है। दोनों पक्षों के बीच विवाद की वजह गांव के एक सम्मानित व्यक्ति को गाली देना बताया जा रहा है। मृतका के पुत्र ने आरोपी कल्लू कहार और पप्पू यादव के खिलाफ नामजद मुकदमा पंजीकृत कराया है। गंगा देई के दो पुत्र सतीश और शरद उर्फ करिया हैं। बड़ा लड़का सतीश गुजरात में रहकर नौकरी करता है जबकि छोटा लड़का शरद सिंह उर्फ करिया घर पर ही रहकर कालीन की बुनाई का कार्य करता है। परिवार की आर्थिक स्थिति काफी डांवाडोल है। परिवार एक टूटे-फूटे झोपड़ी में रहता है। घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: क्या आप इस तस्वीर को देखकर ‘तमाशबीन’ बने रह पाते?

अब आपको तस्वीर दिखाते हैं यूपी के इटावा की। तस्वीर कुछ दिन पुरानी है और जुड़ी है प्यार करने वालों से जो एक दूसरे से शादी करना चाहते थे।

24 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen