विज्ञापन
विज्ञापन

मुंशी प्रेमचंद का नाम अमर रहेगा

Bhadohi Updated Wed, 01 Aug 2012 12:00 PM IST
भदोही। कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर मंगलवार को नगर के साहित्यिक और प्रबुद्ध वर्ग ने स्मरण किया। नगर के श्री इंद्र बहादुर सिंह नेशनल इंटर कालेज में आयोजित गोष्ठी में वक्ताओं ने कहा कि जब तक यह संसार रहेगा तब तक मुंशी प्रेमचंद जी का नाम अमर रहेगा। लोगों ने कहा कि यदि हिंदी वैश्विक भाषा होती तो निश्चित रूप से मुंशी प्रेमचंद साहित्य जगत के नोबल पुरस्कार विजेता होते।
विज्ञापन
विज्ञापन
गोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए डा.रामशिरोमणि होरिल ने कहा कि वे भावनात्मक चेतना के महान चित्रकार थे। उन्होंने अपने समय की कुरितीयों पर अपनी रचनाओं के माध्यम से प्रहार किया। समाज से जाति धर्म की खाई को दूर करने के लिए उन्होंने अपने साहित्य का जो सहारा लिया वह अनुकरणीय है। सुरेश चंद पांडेय मंजुल ने कहा कि मुंशी जी भारत की आत्मा से लोगों को रूबरू कराने का काम किया है। भारत जो गांवों में बसता है उसका उन्होने जिस प्रकार से चित्रण किया है वह नीति निर्धारकों के लिए भी महत्वपूर्ण हैं। साहित्य के युवा हस्ताक्षर विद्याधर यादव ने कहा कि मुंशी प्रेमचंद जी की लेखनी बिल्कुल अलग थी। उन्होंने समाज के गुण-अवगुण का ऐसा चित्रण किया कि वो पात्र अपने बीच के जान पड़ते हैं। आज साहित्य जगत को उनकी कमी खल रही है। कहा कि उन्होंने शोषितों और मजलूमों की आवाज बुलंद करने के लिए अपनी कलम का सहारा लिया।
संचालन कर्मराज किसलय ने किया। जबकि आशीष सिंह, मुन्नूलाल मिश्र अकेला, धीरज सिंह, संजय श्रीवास्तव, वाजिद अली, संतोश गुप्ता, गंगाधर, पंकज उपाध्याय, पंकज गुप्ता, अरुण राय मुन्ना, रतीश श्रीवास्तव, कर्मराज किसलय, शिवलोचन तिवारी आदि ने विचार व्यक्त किए।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

लोकसभा चुनाव में आजम खान से हारीं जया प्रदा करेंगी BJP में 'गद्दारी' की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 में हाई प्रोफाइल सीट रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा का बयान सामने आया है। जया प्रदा ने भाजपा के भीतरघात को अपनी हार का कारण बताया है।

24 मई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree