पर्यवेक्षक से बोले सपाई, कब रुकेगी पिटाई

Bhadohi Updated Thu, 19 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ज्ञानपुर। जिले में तीन दिनों के दौरे पर आए समाजवादी पार्टी के भदोही लोकसभा पर्यवेक्षक डा. पीके राय से सपा कार्यकर्ताओं ने पुलिसिया उत्पीड़न की शिकायत की और ऐसे निरंकुश थानेदारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। सपाइयों ने कहा कि जिले के तमाम थानेदार बसपा सरकार की मानसिकता से ग्रसित हैं और वह सपा कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न कर रहे हैं। इससे आम जनता में पार्टी की छवि धूमिल हो रही है।
विज्ञापन

विगत दो माह के भीतर समाजवादी पार्टी के कई जिम्मेदार पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को कोपभाजन का शिकार बनना पड़ा है। साथ ही कई कार्यकर्ता पुलिसया उत्पीड़न के शिकार हो गए हैं। जिससे वह परेशान हैं। सपा के प्रदेश बंद के आह्वान पर जीटी रोड चौराहा पर कार्यकर्ताओं के साथ धरना दे रहे सपा के जिला महासचिव कुंवर प्रमोद चंद्र मौर्य और उनके समर्थकों के ऊपर लाठीचार्ज कर दिया। जिससे सपा जिला महासचिव सहित आधा दर्जन कार्यकर्ता जख्मी हो गए। इसी तरह विभिन्न स्थानों पर आधा दर्जन से अधिक सपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं की पुलिस ने पिटाई कर चुकी है। एक सपा नेता ने मारपीट की रिपोर्ट दर्ज करने के लिए तहरीर दी लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने से मना कर दिया। इसके अलावा कई कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न किया जा चुका है। इसकी शिकायत भी हाईकमान सहित मुख्यमंत्री से की गई है बावजूद इसके कोई कार्रवाई आज तक नहीं हुई। इससे सपा कार्यकर्ताओं का जहां मनोबल टूट रहा है वहीं आम जनता में इसका गलत संदेश भी जा रहा है। जनपद के तीन दिनों के दौरे पर आए पर्यवेक्षक से सपाइयों ने अपना दुखड़ा रोया और निरंकुश थानेदारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। कार्यकर्ताओं ने कहा कि पिछली बसपा सरकार में उत्पीड़न के बाद उन्हें उम्मीद थी कि सपा सरकार में उनका उत्पीड़न बंद होगा लेकिन अधिकारियों और थानेदारों के बसपा मानसिकता से ग्रसित होने के कारण ऐसा संभव नहीं हो पा रहा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us