बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

बैंक नहीं खोल रहे हैं खाता, रोष

Bhadohi Updated Sat, 14 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
औराई। विकास खंड औराई के प्राथमिक विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर नि:शुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम के तहत विद्यालयों में बजट के लिए खाता बैंकों द्वारा न खोलने का आरोप लगाया है। कहा कि बैंक आनाकानी कर रहे हैं। जहां खाता खुल भी गया है, वहां न तो पासबुक दिया जा रहा है न ही खाता नंबर बताया जा रहा है।
विज्ञापन

नि:शुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम नियम द्वारा सर्व शिक्षा अभियान की वार्षिक कार्य योजना और बजट 2012-13 की कार्यवृत्ति के लिए प्राथमिक स्कूलों में प्रबंध समिति का गठन होना है। जिसमें टीचर्स ग्रांट, निर्माण कार्य, मेंटेनेंस ग्रांट, स्कूल ग्रांट, यूनिफार्म और अन्य कार्यों पर व्यय विद्यालय प्रबंध समिति के माध्यम से होना है। इसके लिए शासनादेश के तहत जिलाधिकारी ने जनपद के समस्त राष्ट्रीयकृत बैंकों को निर्देशित किया है कि विद्यालय प्रबंध समिति का खाता जीरो बैलेंस पर खोलने की कार्रवाई की जाए। विद्यालयों के खाते में ग्रांट नहीं आ पा रही है। प्राथमिक विद्यालय नकटापुर के प्रधानाध्यापक मुन्नूराम, उपरौठ की निशा सिंह, गंभीरसिंहपुर के अखिलेश यादव, उमापुर की शशिकिरण मिश्र, कठारी के वीरेंद्र सिंह, औराई प्रथम के कमलाकांत सिंह सहित तमाम प्रधानाध्यापकों ने इसकी शिकायत जिलाधिकारी से करते हुए मांग की है कि बैंकों को सख्त निर्देश दिया जाए कि वह तत्काल खाता खोलने का कार्य करें।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us