बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

रिश्तेदार की चाट खा कर पूरा परिवार अचेत

Bhadohi Updated Sat, 14 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ऊंज। सीकीचौरा गांव में एक रिश्तेदार द्वारा लाई गई खाने-पीने की चीजें खाकर एक ही कुनबे के सात लोग अचेत हो गए। एक-एक कर सभी की तबीयत बिगड़ती गई और गांव में हड़कंप मच गया। इसके बाद रिश्तेदार बाइक लेकर फरार हो गया। जानकारी मिलने के बाद गांव के प्रधान ने उन्हें गोपीगंज स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। यहां उपचार के बाद पांच लोगों की हालत में तो कुछ सुधार हो गया, लेकिन दो किशोर देर शाम तक अचेत अवस्था में पड़े रहे। चिकित्सकों ने खाद्य सामग्री में नशीला पदार्थ मिले होने की बात कही है। मामले की तहरीर पुलिस को दे दी गई है।
विज्ञापन

सीकीचौरा ग्रामसभा निवासी आशाराम बिंद रोजीरोटी के सिलसिले में मुंबई में रहता है। घर में पत्नी और बच्चे रहते हैं। बृहस्पतिवार की शाम को आशाराम के घर पर मिर्जापुर जिले के चील्ह थानाक्षेत्र के बलुआ बेलवरिया गांव का रहने वाला एक रिश्तेदार (साढ़ू का दामाद) आया था।

घर में कुछ देर रुकने के बाद वह बाजार की तरफ गया और बाजार से चाट का पैकेट, कोल्ड ड्रिंक्स की बोतल और मिठाई लेकर आया। बताते हैं कि परिवार के सभी सदस्यों ने भोजन के पहले युवक द्वारा लाई गई खान-पान सामग्री का सेवन किया।
इसके कुछ देर बाद परिजनों की तबीयत बिगड़ने लगी। हालत बिगड़ने के कुछ देर बाद सभी सदस्य बेहोश हो गए। इसमें आशाराम की पत्नी फोटो देवी (50), पुत्र अरविंद कुमार (25), बहू रिंकी देवी (23), पुत्री अंजू देवी (22), पुत्र अजय कुमार (20), ननकू (18) और सूरज (16) शामिल थे। बेहोश होने की जानकारी पास-पड़ोस के लोगों और ग्रामप्रधान अरुण पांडेय को लगभग रात के साढ़े 12 बजे हुई।
उन्होंने तत्काल सभी लोगों को बेहोशी की हालत में गोपीगंज स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। रातभर चले उपचार के बाद सुबह दस बजे तक फोटो देवी, अरविंद, रिंकी देवी, अंजू देवी, अजय कुमार को होश आ गया था, लेकिन ननकू और सूरज को देर शाम तक होश नहीं आ सका था। चिकित्सकों ने बताया कि खान-पान की सामग्री में नींद की गोली अधिक मात्रा में मिलाई गई थी।
उधर परिजनों के बेहोश होते ही रिश्तेदार बाइक लेकर रात में ही फरार हो गया। आशाराम के परिजनों ने युवक के खिलाफ ऊंज थाने में तहरीर दे दी है। समाचार दिए जाने तक पुलिस तहरीर लेकर मुकदमा पंजीकृत करने के लिए मेडिकल रिपोर्ट के इंतजार में थी। घटना के बाद रिश्तेदार के फरार हो जाने से कई सवाल खड़े हो गए। ग्रामीणों का कहना था कि उसकी यह हरकत संदेह पैदा कर रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us