विज्ञापन

अब नहीं देना होगा अभिभावकों का आय प्रमाण

Bhadohi Updated Sun, 24 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ज्ञानपुर। शासन की ओर से उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता योजना नियमावली-2012 में फिर संशोधन किया गया है। इसमें बेरोजगारों को भत्ता के लिए आवेदन मानक में राहत दी गई है। इसके अलावा 15 अप्रैल तक पंजीकरण कराने वाले बेरोजगार भी भत्ते के लिए पात्र होंगे। उन्हें आवेदन करने के अगले महीने से भत्ता मिलना शुरू हो जाएगा।
विज्ञापन

नियमावली में किए गए संशोधन के तहत बेरोजगारों को भत्ता के लिए आवेदन करते समय अनुलग्न फार्म प्रारूप तीन और चार के अलावा प्रारूप छह को भी निरस्त कर दिया गया है। इससे बेरोजगारों को अब अपने माता-पिता के अलावा संबंधित अभिभावकों के आय और संबंधित प्रमाण पत्र नहीं जमा करने होंगे। बेरोजगार लाभार्थियों को अब स्वयं परिवार के आय प्रमाण पत्र का ब्योरा जमा करना होगा। इसमें आवेदन पत्र के प्रारूप पांच पर ही आय का ब्योरा देना होगा। इसमें बेरोजगार लाभार्थी की सभी स्रोतों से आय 36 हजार या उससे कम होनी चाहिए। इसके अलावा बेरोजगारों को आवेदन के साथ मूल निवास के स्थान पर अब सामान्य निवास का प्रमाण पत्र लगाना होगा, जो कि तहसीलदार के यहां से जारी होता है। इस संबंध में जिला रोजगार सहायता अधिकारी आरडी राम ने बताया कि शासन की ओर से संशोधित आदेश 19 जून को जारी किया गया है, जिसके तहत प्रदेश के किसी भी सेवायोजन कार्यालय में पिछले 15 अप्रैल तक पंजीकरण कराने वाले बेरोजगारों को भत्ते के लिए पात्र माना जाएगा। उन्हें बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन के मानक को पूरा कर आवेदन करने पर अगले माह की भत्ते की स्वीकृति मिल जाएगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us