दूल्हे को मिरगी आने से शादी टूटी

Bhadohi Updated Fri, 22 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
वहिदानगर। ऊंज थाना क्षेत्र के एक गांव में आई बारात में विवाह के बाद सुबह विदाई के समय दूल्हे को मिरगी आने से घरातियों में खलबली मच गई। रोग छिपाकर विवाह करने के आरोप में घरातियों ने दूल्हे के परिजनों सहित बारातियों को बंधक बना लिया। दिनभर चली पंचायत के बाद विवाह का पूरा खर्च वापस करने पर बारातियों को छोड़ा गया। बारात बिना दुल्हन के वापस लौट गई।
विज्ञापन

ऊंज थाना क्षेत्र के गांव की लड़की की शादी हंडिया (इलाहाबाद) थाना क्षेत्र के चकिया गिर्दकोट निवासी जोखूराम बिंद के पुत्र अनिल कुमार बिंद इंजीनियर के साथ तय हुई थी। तय तिथि पर बुधवार को बारात दरवाजे पर आई। द्वारपूजा के बाद बारातियों का स्वागत सत्कार किया गया। खाना पीना के बाद रात में विवाह भी संपन्न हो गया। बृहस्पतिवार को लड़की के विदाई की तैयारी चल रही थी और बाराती नाश्ता पानी कर रहे थे। इसी बीच दूल्हे को मिरगी आ गई और वह छटपटाकर जमीन पर गिर पड़ा। इससे बारातियों और घरातियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन बाराती और घराती उसे वहिदा मोड़ स्थित एक निजी चिकित्सालय ले गए। इसी बीच परिजनों ने चिकित्सक को किसी सुई का नाम बताया और कहा कि इस इंजेक्शन को लगा देंगे तो ठीक हो जाएगा। इस पर घरातियों को शक हुआ कि दूल्हा मिरगी का पुराना रोगी है, इसलिए परिजनों को दवा और इंजेक्शन का नाम भी मालूम है। इसके बाद घरातियों ने दूल्हे के परिजनों सहित बारातियों को बंधक बना लिया और लड़की की विदाई न करने का निर्णय लिया। साथ ही विवाह में हुए खर्च की भरपाई करने पर ही छोड़ने की बात कही। घंटों चली पंचायत के बाद देर शाम तक दूल्हा पक्ष के लोगों ने विवाह में हुए खर्च को लड़की पक्ष के लोगों को वापस किया। इसके बाद बारात बैरंग वापस लौट गई।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us