विज्ञापन

ग्रामीणों को रुला रही है बिजली कटौती

Bhadohi Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
कौलापुर/ऊंज। डीघ विकास खंड के दर्जनों ग्रामसभाओं के ग्रामीणों को विद्युत कटौती खून के आंसू रुला दे रही है। मृगशिरा नक्षत्र में पड़ रही भीषण गर्मी और उमस की वजह से लोगों की हालत काफी खस्ताहाल हो जा रही है। परेशानी का आलम यह है कि ग्रामीणों को बिजली न मिलने की वजह से उनके जरूरी काम ठप पड़े हुए हैं। इसके अलावा विद्युत कटौती की वजह से हो रही शारीरिक से लेकर मानसिक कष्ट तो ऊपर से झेलना पड़ रहा है। गांवों में शासन की ओर से जारी विद्युत आपूर्ति के रोस्टर का कहीं अता-पता ही नहीं है। इससे ग्रामीण रात को न चैन से सो पाते हैं और बिजली न रहने की वजह से पेयजल के लिए भी काफी किल्लत उठानी पड़ती है।
विज्ञापन

ग्रामीणों के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र में शासन की ओर से 12 से 14 घंटे तक विद्युत आपूर्ति करने के लिए रोस्टर निर्धारित किया गया है। लेकिन आपूर्ति के लिए रोस्टर का अता-पता नहीं रहता है, आपूर्ति होती भी है तो कई हिस्सों में महज पांच-छह घंटे तक। जिससे ग्रामीणों को उक्त समय तक विद्युत आपूर्ति का कोई फायदा नहीं मिल पाता है। बिजली कब आती है और कब चली जाती है इसका किसी ग्रामीण को पता नहीं चल पाता है। बिजली की कटौती होने की वजह से तिलंगा पेयजल से आपूर्ति ठप पड़ी हुई है। इससे ग्रामीणों को पानी के लिए काफी फजीहत उठानी पड़ रही है। वर्तमान में डीघ विकास खंड के सुजापुर, धनापुर, कौलापुर, केदारपुर, बेरासपुर, बदरी, गोपालपुर, दानी पट्टी सहित कुरमैचा, बसही, वहिदानगर, महुआरी, गोधना, ऊंज, खेदौपुर, रइयापुर, सुबाषनगर, रोही, बरईपुर, मझगंवा सहित अन्य ग्रामसभा के ग्रामीण विद्युत कटौती से त्रस्त हो गए हैं। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से तत्काल विद्युत आपूर्ति रोस्टर के अनुरूप ग्रामीण क्षेत्रों में कराने की मांग की है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us