विज्ञापन

राजकीय नलकूप खराब कैसे पड़े धान की नर्सरी

Bhadohi Updated Thu, 14 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ज्ञानपुर। धान की नर्सरी डालने का कार्य तेजी से चल रहा है। पानी की व्यवस्था न होने से किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। राजकीय नलकूपों की दशा राम भरोसे हो गई है। जिले के अधिकांश नलकूपों के खराब हो जाने के कारण किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कई नलकूप तो साल भर से खराब पड़े हैं। कोई नलकूप तकनीकी गड़बड़ी तो कोई बिजली की कमी से बंद चल रहा है। विभाग के द्वारा मरम्मत न कराने से समस्याएं दूर नहीं हो पा रही हैं।
विज्ञापन
जिले में कुल 525 राजकीय नलकूप सिंचाई के लिए स्थापित किए गए हैं। इसमें से आधे से ज्यादा नलकूप तो हमेशा किसी न किसी कमी के चलते खराब ही पड़े रहते हैं। वर्तमान समय में धान के लिए बेहन डालने का कार्य तेज चल रहा है। इसके लिए किसानों को पानी की सख्त जरूरत है। नलकूपों के खराब होने और अनियमित विद्युत कटौती के चलते निजी पंपिंग सेट भी नहीं चल पा रहे हैं। अधिकांश राजकीय नलकूप तकनीकी गड़बड़ी से बंद हैं, जिनके स्टार्टर या मोटर खराब हो गए हैं। विभागीय अधिकारियों से इसकी शिकायत की गई लेकिन नया सामान न उपलब्ध होने के कारण तकनीकी गड़बड़ी दूर नहीं हो पा रही है। इसी तरह बड़ी संख्या में नलकूप बिजली की कमी से शोपीस बने हुए हैं। ट्रांसफार्मर जल जाने या फिर तारों के जर्जर हो जाने के कारण नलकूप नहीं चल पा रहे हैं। इसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है। वहिदानगर संवाददाता के अनुसार डीघ विकास खंड के 90 ग्राम पंचायतों के 35 नलकूप खराब चल रहे हैं। इसमें अधिकांश नलकूप छह माह से एक साल से अधिक समय से बंद पड़े हैं। इसकी शिकायत कई बार अधिकारियों से की गई लेकिन मरम्मत नहीं कराई गई। सामानों को मरम्मत के लिए वर्कशाप भेज दिया गया है लेकिन नया सामान न उपलब्ध होने के कारण कमियां दूर नहीं हो पा रही हैं। डीघ विकास खंड के भीखीपुर, रामकिशुनपुर बसहीं, मानशाहपुर, बेलहुआ, बड़ागांव, बरईपुर, सागररायपुर, बनकट, नारेपार, अरई, दरवलिया, इटहरा, भुर्रा, डीघ, कालिका नगर, फुलवरिया आदि गांवों के नलकूप खराब हैं। औराई संवाददाता के अनुसार जिले के राजकीय नलकूपों की दशा राम भरोसे ही चल रही है। जिसके कारण किसान धान की नर्सरी नहीं डाल पा रहे हैं। औराई विकास खंड के अधिकांश नलकूप वर्तमान समय में खराब पड़े हुए हैं। इसमें जेठूपुर, औराई, चकापुर, परानापुर, भवानीपुर, कठारी, माधोसिंह, पियरोपुर, भगवानीपुर सहित कई गांवों के नलकूप खराब पड़े हुए हैं। कहीं मोटर जला है तो कहीं का स्टार्टर ही खराब हो गया है। इससे किसानों को समय से सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

लेखिका विंटा ने आलोक नाथ के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

#MeToo के तहत फंसे एक्टर आलोक नाथ के लिए मुश्किलें और बढ़ गई है। प्रोड्यूसर और लेखिका विंटा नंदा के यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने के बाद से आलोक नाथ सुर्खियों में आ गए थे।

18 अक्टूबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree