विज्ञापन

बाल श्रम के प्रति लोगों को किया जागरूक

Bhadohi Updated Wed, 13 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
चौरी। विश्व बाल श्रम निषेध दिवस पर विशेष बाल श्रमिक विद्यालय हरिश्चंदनपुर भदोही में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं श्रम विभाग (राष्ट्रीय बाल श्रम परियोजना) के संयुक्त तत्वावधान में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी को बाल श्रम के विरुद्ध एक जागरूकता अभियान के रूप में मनाया गया।
विज्ञापन
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं सिविल जज अचल नारायण सकलानी थे। उन्होंने बाल श्रम निषेध के संबंध में संवैधानिक एवं कानूनी पहलुओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। विशिष्ट अतिथि उप जिलाधिकारी भदोही ने कहा कि मानव जीवन बार-बार नहीं मिलता। इसलिए मनुष्य के लिए अनिवार्य है कि वह सर्व प्रथम मनुष्य बने। इसके बाद उद्योगपति, अधिकारी, वकील आदि बनने का प्रयास करे। सहायक श्रमायुक्त/परियोजना निदेशक आरके पाठक ने बाल श्रम समस्या एवं समाधान पर विस्तार से प्रकाश डाला और इस संबंध में सकारात्मक सोच बनाए रखने पर जोर दिया। पुलिस क्षेत्राधिकारी भदोही ने बाल श्रम के संबंध में विस्तार से चर्चा की। कालीन निर्माता परिषद के मानद सचिव अब्दुल हादी ने भी लोगों को जागरूक किया। कवि व अधिवक्ता कृष्णावतार त्रिपाठी राही ने बाल श्रम पर कविता के माध्यम से जागरूक किया। अधिवक्ता ललित मिश्र ने भी विधिक जानकारी दी। गोष्ठी की अध्यक्षता ईंट निर्माता परिषद के अध्यक्ष मिठाईलाल दूबे ने की। गोष्ठी में विशेष बाल श्रमिक विद्यालय हरिश्चंदनपुर, खेलीखास, बरदहां, चौरी खास एवं चकभुइधर में अध्ययनरत बच्चे एवं उनके अभिभावकों के साथ विद्यालय के स्टाफ ने हिस्सा लिया। इस मौके पर फील्ड आफिसर इंद्रजीत कुमार तिवारी, चंद्रशेखर दूबे अध्यक्ष प्रधान संघ, संतोष यादव, राकेश सिंह, गरीब दास, लेबर इंस्पेक्टर दिनेश मिश्र, वंदना दूबे, ओमकारनाथ तिवारी, मुरारी दूबे, रामपति मौर्य, बीएल सरोज, माया मिश्र, राधा, संजय दूबे, डा. चंद्रशेखर जायसवाल, दशरथ मिश्र, चंदा देवी, प्रहलाद, मधु दूबे, जिऊत पाल, अशफाक अंसारी, सुमंत मिश्र, सरिता सिंह, हंसराज प्रीति आदि मौजूद थीं। कार्यक्रम का संचालन देवराज पटेल प्रधान हरिश्चंदनपुर ने किया। कार्यक्रम का समापन डा. अनिल श्रीवास्तव चिकित्सक ने किया।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

महानदी में उफनती लहरों संग बहने लगे तीन हाथी, खोलने पड़े बैराज के चार गेट

ओडिशा के कटक में महानदी में गिरे तीन हाथियों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। हाथियों को बचाने के लिए कटक के बैराज के चार गेट खोलने पड़े। देखिए, तीन भारी भरकम हाथियों का हैरान करने वाला रेस्क्यू ऑपरेशन।

16 अक्टूबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree