विज्ञापन

पिता की हत्या का बदला लेने के लिए किया चंदन का कत्ल

Bhadohi Updated Thu, 07 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
घोसिया। पिता के कत्ल में चंदन का हाथ होने के कारण भेजा भन्नाया था। इसीलिए उसको गोली मारकर पिता की हत्या का बदला लिया। चंद रोज पहले औराई के तितराही गांव के समीप जीटी रोड पर हत्या कर फेंकी गई चंदन की लाश की तफ्तीश के दौरान पुलिस के हत्थे चढ़े सैदपुर (गाजीपुर) के अभिषेक सोनी ने जब यह बात कबूली तो पुलिस के कान खड़े हो गए। साथी विजय विश्वकर्मा के साथ एसओजी और औराई पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में गिरफ्त में आए अभिषेक ने बुधवार को पुलिस के सामने चंदन मर्डर मिस्ट्री का पर्दाफाश कर दिया। आरोपियों के पास से 32 बोर की रिवाल्बर और पांच कारतूस भी बरामद हुए हैं।
विज्ञापन
28 मई को वाराणसी-इलाहाबाद मार्ग पर औराई थानाक्षेत्र के तितराही गांव के समीप चंदन की लाश मिली थी। उसकी शिनाख्त गाजीपुर के सैदपुर निवासी संजय सिंह के पुत्र के रूप में हुई। पहले तो इसे हादसा माना जा रहा था, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली मारकर हत्या किए जाने की बात सामने आने के बाद पुलिस मामले की सुरागकशी में जुट गई। इसी क्रम में थानाध्यक्ष औराई अनिल यादव और एसओजी प्रभारी सतीश सिन्हा की टीम ने गाजीपुर के सैदपुर से चंदन की हत्या में शामिल अभिषेक सोनी और विजय विश्वकर्मा को धर दबोचा। पुलिस की पूछताछ में दोनों ने हत्या की बात कबूल करते हुए उसकी वजह भी बताई। कहा कि एक साल पहले उसके सराफा व्यवसायी पिता विमल सोनी की हत्या कर दी गई थी। वह गाजीपुर के सिधौना में स्थित अपनी दुकान को बंदकर घर लौट रहे थे। उनके साथ आभूषण भी थे। उसी दौरान लूटपाट की नीयत से उन पर हमला किया गया। इसमें प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से चंदन का हाथ था। अपने पिता की हत्या का बदला लेने के लिए चंदन की हत्या कर दी। गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने आईपीसी की धारा 302, 201 और 27/30 आर्म्स एक्ट के तहत कार्रवाई की है।





कोर्ट में पेशी पर आया कैदी फरार, पकड़ा गया
हाथ झटक कर भागा तो सिपाहियों के होश उड़े
अमर उजाला ब्यूरो
ज्ञानपुर। सीजेएम कोर्ट में पेशी पर आया हत्या का आरोपी एक कैदी बुधवार को पुलिस को चकमा फरार हो गया। इसके बाद पुलिस वालों के हाथ-पांव फूल गए। हालांकि काफी देर की मशक्कत के बाद पुलिस ने फिर कैदी को ज्ञानपुर बाजार से पकड़ लिया, लेकिन तब तक उसकी पेशी की ड्यूटी में लगी पुलिस पसीने-पसीने हो गई थी। कैदी के दोबारा पकड़े जाने के बाद ही उनकी जान में जान आई।
ज्ञानपुर कोतवाली क्षेत्र के सनकडीह गांव निवासी विजय कुमार हत्या के एक मामले में जेल में बंद है। बुधवार को सीजेएम कोर्ट में उसकी पेशी होनी थी। दो सिपाही उसे लेकर कोर्ट पहुंचे थे कि इसी बीच हाथ झटक कर वह भाग निकला। तेजी से वह कोर्ट कैंपस से निकलकर बाजार की ओर भागा और दूधनाथ मंदिर के सामने से बाजार में विलुप्त हो गया। इसके बाद उसे पेशी पर लेकर आए सिपाहियों के तो हाथ-पांव फूल ही गए, समूचा महकमा भौचक हो गया। इसके बाद पुलिस ने नगर में निगहबानी बढ़ाते हुए फिर उसकी तलाश शुरू की और बाजार में घेरेबंदी कर उसे दोबारा दबोच लिया। कोतवाल नंद कुमार ओझा ने बताया कि कैदी के फरार होने के बाद ही पुलिस हरकत में आ गई और उसे दोबारा पकड़ लिया गया। बता दें कि पेशी के दौरान कैदियों को लेकर पुलिस अक्सर लापरवाह देखी जाती है। कई बार इसका फायदा कैदी उठा भी चुके हैं, लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया जाता।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

राफेल पर घिरती दिख रही मोदी सरकार समेत इन खबरों पर रहेगी हमारी नजर

राफेल विमान डील को लेकर केंद्र सरकार चारों तरफ से घिरती दिख रही है, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिवसीय दौरे पर सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंचेंगे समेत इन बड़ी खबरों पर रहेगी हमारी नजर

23 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree