बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

ग्रामीण इलाकों में पेयजल किल्लत

Bhadohi Updated Tue, 05 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ज्ञानपुर। ग्रामीण इलाकों में पेयजल किल्लत गहरा गई है। भीषण गर्मी में पानी की कमी ने ग्रामीणों को इस कदर परेशान कर रखा है कि पानी की एक-एक बूंद सहेजने की होड़ मच गई है। ज्यादातर हैंडपंप खराब होने और कुएं सूख जाने के कारण ग्रामीणों को पानी दूर से ढोकर लाना पड़ रहा है। एक-दो हैंडपंप जो चल भी रहे हैं तो उन पर पानी के लिए होड़ मची है। इस दौरान तू-तू-मैं-मैं बड़ी आम बात हो गई है।
विज्ञापन

जिले के ग्रामीण इलाकों में पानी के लिए जद्दोजहद शुरू है। तमाम हैंडपंपों ने पानी उगलना बंद कर दिया है और कुएं सूख गए हैं। तालाबों की तलहटी में भी दरारें पड़ गईं हैं। इससे पशुपालकों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिला मुख्यालय से महज दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित भिदिउरा गांव में पानी की किल्लत लोगों के लिए सिरदर्द बन गई है। गांव में लगे कई हैंडपंप महीनों से खराब हैं। ग्रामीण हैंडपंपों के रिबोर की मांग कर रहे हैं, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। अब गर्मी में हलक तर कर पाना भी काफी कठिन काम हो चला है। गांव के डबलू पाठक, हरिशंकर मौर्य, अवध नारायण सरोज, बब्बू मौर्य, धीरज पाठक, बबलू मौर्य, करिया मौर्य, विनय पाठक, आशीष शर्मा, बलंतू शर्मा, मुकेश मौर्य आदि ने खराब हैंडपंपों की शीघ्र मरम्मत करवाने की मांग की है। ग्रामीणों का कहना था कि गर्मी के सीजन में हैंडपंप ही ठीक हालत में नहीं रहेंगे तो पानी की समस्या कैसे दूर होगी। यह हाल आसपास के कई गांवों का है। कुएं पानी के अभाव में सूख गए हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us