सड़क हादसे में सराफा कारोबारी की मौत

Bhadohi Updated Mon, 04 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
सुरियावां। जिले की सीमा से करीब पांच किलोमीटर अंदर सीमावर्ती जनपद जौनपुर के पचवल में बीती रात सुरियावां निवासी एक सराफा व्यवसायी कुनबे के तीन लोग सड़क हादसे में घायल हो गए। इनमें से एक युवक की बनारस के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई, जबकि उसके पिता की हालत गंभीर बनी हुई है। रविवार की सुबह मौत की सूचना मिलने के बाद गल्ला मंडी स्थित सराफा कारोबारी के परिवार में कोहराम मच गया और शोक में बाजार के सराफा कारोबारियों ने अपनी दुकानें बंद रखीं।
विज्ञापन

सुरियावां बाजार के गल्लामंडी निवासी माता प्रसाद वर्मा का सराफा का कारोबार है। उनके दोनों पुत्रों संदीप (40) और नीलू (30) की बाजार में दुकानें हैं। रविवार को वह अपने दोनों पुत्रों के साथ निजी कार (यूपी 66 के-1899) से किसी काम के सिलसिले में जौनपुर गए थे। वापसी के समय रात के दो बज गए। गाड़ी छोटा बेटा नीलू चला रहा था और माता प्रसाद और बड़ा बेटा संदीप पीछे बैठे थे। जौनपुर-भदोही मार्ग पर पचवल बाजार के समीप नीलू को झपकी आ गई। इससे कार अनियंत्रित होकर सामने एक पेड़ से टकरा गई। हादसे में तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। कुछ कम चोट लगने के कारण नीलू को थोड़ी देर में होश आया तो उसने परिजनों को फोन से सूचना दी। इसके बाद घर के अन्य सदस्य मौके पर पहुंचे तीनों को भदोही के निजी अस्पताल में ले जाया गया, लेकिन हालत गंभीर देखते हुए वहां चिकित्सकों ने उन्हें वाराणसी ले जाने की सलाह दे दी। नीलू को तो सुरियावां के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन संदीप और उसके पिता माता प्रसाद को बनारस के एक निजी हास्पिटल में भर्ती कराया गया। सुबह पता चला कि अस्पताल में संदीप की मौत हो गई। माता प्रसाद के हाथ और पैर में गंभीर चोट बताई जा रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us