सीओ ने बंदूक की बट से फोड़ा कैदी का सिर

Bhadohi Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
ज्ञानपुर। 302 के मुकदमे की सुनवाई के लिए न्यायिक अभिरक्षा में सीजेएम कोर्ट में पेशी पर पहुंचे बंदी को शनिवार को ज्ञानपुर के पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बंदूक की बट अथवा लोहे के किसी सामान से मारपीट कर उसका सिर फोड़ दिया। इस दौरान सीओ ने उसके साथ गाली-गलौज भी की। इस आशय की लिखित शिकायत बंदी ने सीजेएम कोर्ट से की है। हालांकि सीओ ने बंदी के इस आरोप को खारिज कर दिया।
हत्या के मामले में जेल में बंद सुरियावां के नेतानगर निवासी पप्पू उर्फ अरशद को शनिवार को दोपहर करीब साढ़े 12 बजे ज्ञानपुर स्थित सीजेएम कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया। इसी बीच सीओ ज्ञानपुर सुखसागर शुक्ला वहां पहुंचे और बंदी को गाली-गलौज देते हुए उस पर टूट पड़े। बंदूक की बट या लोहे के किसी सामान से प्रहार कर उसका सिर फोड़ दिया। इसके बाद सीजेएम कैंपस में हड़कंप मच गया। घटना के वक्त सीजेएम कैंपस के बंदीगृह में तकरीबन 21 बंदी मौजूद थे। मौके पर मौजूद कई बंदियों ने भी एक स्वर में कहा कि सीओ ने पप्पू को मारा है। इस बीच उसकी बहन भी सीजेएम कैंपस में पहुंच गई और भाई का सिर फूटा देखकर रोने-चिल्लाने लगी। सीजेएम कोर्ट में कैदी की इस शिकायत के बाद उसके मेडिकल परीक्षण का निर्देश दिया गया। उधर सीओ ज्ञानपुर सुखसागर शुक्ला ने खुद पर लगे इस आरोप को निराधार बताया। कहा कि वह जांच करने के बाद मातहतों को कुछ हिदायतें देकर सीजेएम कैंपस से अपने कार्यालय लौट चुके थे। इसी बीच उनके पास दारोगा का फोन गया कि एक कैदी का सिर फूट गया है। सीओ ने कहा कि कैदी ने लॉकअप के दरवाजे की रॉड पर सिर पटककर फोड़ लिया होगा। मैंने उसे मारा-पीटा नहीं।
पुलिस कप्तान एके शुक्ला के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि बंदी पप्पू कई संगीन आपराधिक मामलों का आरोपी है। एसपी के पीआरओ ने बताया कि सीओ के मुआयना लिखने के समय बंदी को लगा था कि वे उसके खिलाफ कुछ लिख देंगे। इस पर वह उत्तेजित हो उठा और सीओ की ओर इशारा करते हुए अपशब्द बोलने लगा। अपना सिर लाकअप के दरवाजे की रॉड से टकराकर आत्महत्या करने की धमकी भी दे रहा था। एक सिपाही की तहरीर पर बंदी के खिलाफ आईपीसी की धारा 309 और 504 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है।

Spotlight

Related Videos

तो क्या आतंकवाद के नाम पर महबूबा सरकार से अलग हुई बीजेपी?

जम्मूा-कश्मीशर में पीडीपी-बीजेपी गठबंधन सरकार गिर गई है। बीजेपी नेता राम माधव ने इस बात का एलान करते हुए कहा कि कश्मी र के मौजूदा हालात को देखते हुए बीजेपी अब महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व में पीडीपी को समर्थन देने की स्थिति में नहीं है।

19 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen