सीओ ने बंदूक की बट से फोड़ा कैदी का सिर

Bhadohi Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
ज्ञानपुर। 302 के मुकदमे की सुनवाई के लिए न्यायिक अभिरक्षा में सीजेएम कोर्ट में पेशी पर पहुंचे बंदी को शनिवार को ज्ञानपुर के पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बंदूक की बट अथवा लोहे के किसी सामान से मारपीट कर उसका सिर फोड़ दिया। इस दौरान सीओ ने उसके साथ गाली-गलौज भी की। इस आशय की लिखित शिकायत बंदी ने सीजेएम कोर्ट से की है। हालांकि सीओ ने बंदी के इस आरोप को खारिज कर दिया।
हत्या के मामले में जेल में बंद सुरियावां के नेतानगर निवासी पप्पू उर्फ अरशद को शनिवार को दोपहर करीब साढ़े 12 बजे ज्ञानपुर स्थित सीजेएम कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया। इसी बीच सीओ ज्ञानपुर सुखसागर शुक्ला वहां पहुंचे और बंदी को गाली-गलौज देते हुए उस पर टूट पड़े। बंदूक की बट या लोहे के किसी सामान से प्रहार कर उसका सिर फोड़ दिया। इसके बाद सीजेएम कैंपस में हड़कंप मच गया। घटना के वक्त सीजेएम कैंपस के बंदीगृह में तकरीबन 21 बंदी मौजूद थे। मौके पर मौजूद कई बंदियों ने भी एक स्वर में कहा कि सीओ ने पप्पू को मारा है। इस बीच उसकी बहन भी सीजेएम कैंपस में पहुंच गई और भाई का सिर फूटा देखकर रोने-चिल्लाने लगी। सीजेएम कोर्ट में कैदी की इस शिकायत के बाद उसके मेडिकल परीक्षण का निर्देश दिया गया। उधर सीओ ज्ञानपुर सुखसागर शुक्ला ने खुद पर लगे इस आरोप को निराधार बताया। कहा कि वह जांच करने के बाद मातहतों को कुछ हिदायतें देकर सीजेएम कैंपस से अपने कार्यालय लौट चुके थे। इसी बीच उनके पास दारोगा का फोन गया कि एक कैदी का सिर फूट गया है। सीओ ने कहा कि कैदी ने लॉकअप के दरवाजे की रॉड पर सिर पटककर फोड़ लिया होगा। मैंने उसे मारा-पीटा नहीं।
पुलिस कप्तान एके शुक्ला के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि बंदी पप्पू कई संगीन आपराधिक मामलों का आरोपी है। एसपी के पीआरओ ने बताया कि सीओ के मुआयना लिखने के समय बंदी को लगा था कि वे उसके खिलाफ कुछ लिख देंगे। इस पर वह उत्तेजित हो उठा और सीओ की ओर इशारा करते हुए अपशब्द बोलने लगा। अपना सिर लाकअप के दरवाजे की रॉड से टकराकर आत्महत्या करने की धमकी भी दे रहा था। एक सिपाही की तहरीर पर बंदी के खिलाफ आईपीसी की धारा 309 और 504 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ में आया अजगर

विकासनगर के कुल्हाल सब स्टेशन में अजगर मिलने से हड़कंप मच गया। करीब एक घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद वन कर्मीअजगर को पकड़ पाने में सफल हो पाए। इसके बाद वनकर्मियों ने अजगर को जंगल में छोड़ दिया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper