विज्ञापन

पर्यावरण हम सबकी साझी धरोहर

Bhadohi Updated Tue, 29 May 2012 12:00 PM IST
ज्ञानपुर। पर्यावरण जागरूकता अभियान के अंतर्गत सोमवार को बीरमपुर के श्रीमती केवला देवी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में स्थायी आजीविका के लिए वन विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान वनों की महत्ता पर प्रकाश डाला गया। बतौर मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, गोरखपुर के वैज्ञानिक अधिकारी डा. एससी शुक्ला ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि हमें प्रकृति के प्रति लगाव उत्पन्न कर उसके नजदीक जाना होगा। उन्होंने कहा कि देश में हर वर्ष करीब 47 हजार हेक्टेयर भूक्षेत्र से वनों का कटान हो जाता है। कहा कि वन विनाश के कारण ही आज विश्व में प्रतिदिन जीव जंतुओं की करीब सौ प्रजातियां विलुप्त हो जा रही हैं। अध्यक्षता कर रहे रायबरेली के असिस्टेंट कमिशभनर अशोक कुमार ने कहा कि पर्यावरण हम सबकी साझी धरोहर है। इसका संरक्षण हमारा सामूहिक दायित्व है। इससे पूर्व नेशनल इको हेल्थ सोसायटी के सचिव कमलेश शुक्ला ने विषय प्रवर्तन पर प्रकाश डाला। कहा कि बढ़ती आबादी, अनियोजित औद्योगिकीकरण, और नगरीकरण ने जैव संपदा को अभूतपूर्व ढंग से क्षति पहुंचाई है। विधानसभा ज्ञानपुर के सपा सचिव सुभाषचंद्र शुक्ल ने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण को कम करने का सरल उपाय पौधरोपण है। समाजसेवी गिरजाशंकर शुक्ल ने कहा कि विकास कार्यों में पर्यावरण की अनदेखी हो रही है। राजकीय इंटर कॉलेज पिथौरागढ़ के पूर्व प्राचार्य राजनाथ शुक्ल ने पर्यावरण संरक्षण में बच्चों के अहम भूमिका निभाने की बात कही। इसके अलावा लोहिया इंटर कॉलेज बवई के प्रवक्ता खुशियाल चंद, समाजसेवी राधेश्याम शुक्ल, एडवोकेट शशिकांत, योगेश शुक्ल, धीरज शुक्ल, धर्मेंद्र, रामकृपाल भारतीय, प्रधानाचार्य संदीप सोनी, मुंशीलाल बिंद, सत्य नारायण बिंद, प्रदीप, विकास, रजनीश आदि ने भी विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन अरविंद शुक्ला तथा आभार शशिकांत शुक्ला ने प्रकट किया।
विज्ञापन
विज्ञापन

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पाएं हमारे अनुभवी ज्योतिषाचार्य से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

3000 साल पुराने इस इलाके को है विकास का इंतजार, देखिए खास रिपोर्ट

ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण होने के बावजूद क्यों प्रशासन की अनदेखी झेल रहा है कौशांबी, देखिए खास खबर

24 मार्च 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election