विज्ञापन

जिले को श्यामधर जैसे नेता की जरूरत

Bhadohi Updated Sun, 27 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ज्ञानपुर। जनपद के विकास पुरुष और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. पं. श्यामधर मिश्र की जयंती शनिवार को धूमधाम से मनाई गई। गोपीगंज के कठौता स्थित पं. श्यामधर स्मारक पर और जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यालय पर पूर्व केंद्रीय मंत्री के प्रतिमा और चित्र पर माल्यार्पण किया गया। इस दौरान उनके कराए गए विकास कार्यों की सराहना करते हुए उसे मील का पत्थर बताया गया।
विज्ञापन
जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय पर जिलाध्यक्ष रत्नेश मिश्र की अध्यक्षता में हुई गोष्ठी में विकास पुरुष और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. श्यामधर मिश्र की जयंती सादगीपूर्ण तरीके से मनाई गई। उनके अधूरे कार्यों को पूरा करने का संकल्प लिया गया। जिलाध्यक्ष रत्नेश मिश्र ने कहा कि पं. श्यामधर मिश्र बड़े ही सरल स्वभाव के थे। वह जनता की समस्याओं के लिए हमेशा संघर्ष करते रहे। जिस काम को वह शुरू करते थे उसे पूरा करके ही दम लेते थे। वरिष्ठ नेता जगदीश प्रसाद पासी ने कहा कि श्यामधर मिश्र सोते जागते, उठते बैठते जिले के सर्वांगीण विकास के बारे में सोचते थे। उनके अथक प्रयास से ही जिले का निर्माण हुआ। महासिचव सुरेश चंद्र उपाध्याय ने कहा कि पं. श्यामधर मिश्र जनपद के लिए अस्पताल, विद्यालय, नलकूप, सड़क आदि को लगवाकर जनपद का विकास कराया। इसके पूर्व उनके चित्र पर माल्यार्पण भी किया गया। गोष्ठी में डा. खिलाड़ी लाल श्रीवास्तव, डा. देवेंद्रनाथ पांडेय, प्रेम बिहारी उपाध्याय, गुलजारी लाल उपाध्याय, सतीश चौबे, संजीव दूबे, मुरली उपाध्याय, जान मुहम्मद, श्यामधर त्रिपाठी, राम गोपाल पासी, आनंद उपाध्याय, फूलचंद्र बिंद, राजेश बिंद, नागेश पांडेय, विजन उपाध्याय, दलजीत मिश्र, रामेश्वर पांडेय, जफर खां आदि थे।
प्रार्थना सभा हुई
गोपीगंज। कठौता स्थित पं. श्यामधर मिश्र स्मारक पर पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. पं. श्यामधर मिश्र का जन्मदिन मनाया गया। विनोद श्यामधर ने स्व. मिश्र के प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस मौके पर विनोद श्यामधर ने कहा कि जन्मदिन के मौके पर सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि स्व. मिश्र के मरणोपरांत ग्रामीण विकास सम्मान देश के किसी विशिष्ट व्यक्ति के द्वारा दिलाया जाएगा। ताकि नवयुवक प्रेरित हों और ईमानदारी से कार्य करें। श्यामधर मिश्र विकास पुरुष के रूप में जाने जाते हैं। वह नेहरू मंत्रिमंडल में मंत्री थे। उस समय बजट की कमी होने के बावजूद भी उन्होंने जनपद का सर्वांगीण विकास कराते हुए जिले भर में सड़कों व नलकूपों का जाल बिछाया। आज के दौर में पं. श्यामधर मिश्र जैसे नेता का अभाव है। श्री मिश्र की जयंती पर गरीबों को पांच-पांच सौ रुपये देने की घोषणा की, जिससे उनका जीविकोपार्जन हो सके। इसके पूर्व प्रार्थना सभा का भी आयोजन किया गया। इस मौके पर सृष्टि नारायण शुक्ल, संत केशव कृपाल जी महाराज, घनश्याम शुक्ल, सुरेंद्र दूबे, चंद्रनाथ तिवारी, रत्नेश मिश्र, कैलाश चंद्र मिश्र, सिद्धार्थ मिश्र, आदर्श मिश्र, जयशंकर दूबे, डा. अवधेश पांडेय, लवकुश नारायण मिश्र, श्रीधर मिश्र, प्रमोद मिश्र, अमृतलाल, दुर्गेश चंदापुरी, अनूप मिश्र, अशोक मिश्र, ओमकारनाथ मिश्र, संतोष सिंह आदि मौजूद रहे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

गुरुवार को इस वक्त ना निकलें घर से वरना नहीं बनेगा कोई काम

गुरुवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग गुरुवार 20 सितंबर 2018।

19 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree