लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   ›   जिसे अपनों ने खोया उसे गैरों ने अपनाया

जिसे अपनों ने खोया उसे गैरों ने अपनाया

Bhadohi Updated Thu, 24 May 2012 12:00 PM IST
चौरी। बाजार की नईबस्ती में एक वृद्धा को कूड़े के ढेर में पड़ा देख लोगों में मानवता जाग गई। जिसे अपनों ने कूड़े के ढेर में पड़े रहने के लिए छोड़ दिया, उसे गैरों ने न केवल अपनों का प्यार दिया बल्कि उसकी सेवा भी कर रह हैं। नई बस्ती में एक सप्ताह से एक 85 वर्षीय वृद्धा कुछ दिन पूर्व ग्रामीणों को गांव में घूमते दिखी थी। उसके बाद वह गायब हो गई। दो दिन पूर्व उसी को ग्रामीणों ने फिर कूड़े के ढेर पर पड़े देखा। वह बेहोश पड़ी थी। ग्रामीण मुख्तार हाशमी उसे घर उठा लाए और चिकित्सक को दिखाने के बाद उसकी सेवा शुरू कर दी। उसे होश आने पर उसने अपना नाम जोधा देवी बताया। उसने अपने बेटों का नाम नरेंद्र और विजेंद्र बताया, लेकिन गांव का नाम नहीं बता सकी। मुख्तार के घर की बहुएं उसे स्नान आदि करा, उसकी सेवा में हैं। गांव का जो व्यक्ति यह सुन रहा है, बुजुर्ग महिला को देखने वह जरूर जा रहा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00