भक्तों ने राम नाम जप के साथ की परिक्रमा

Bhadohi Updated Wed, 23 May 2012 12:00 PM IST
जंगीगंज। डीघ विकास खंड के अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय सदाशिवपट्टी के प्रांगण में चल रहे राम नाम जप महायज्ञ में मंगलवार को भोर से ही श्रद्धालुओं का तांता लग गया था। सैकड़ों की संख्या में भक्तों ने श्री राम नाम के उद्घोष के साथ यज्ञ में आहुतियां डालीं और यज्ञ मंडप की परिक्रमा की।
महायज्ञ का कार्यक्रम प्रात: छह बजे से प्रारंभ होकर पूर्वांह्न 11.30 बजे तक चला। इस दौरान भक्तों ने यज्ञ कुंड में आहुतियां डालने के साथ यज्ञ मंडप की परिक्रमा की। महायज्ञ का कार्यक्रम 11 विद्वानों के द्वारा विधि विधान से कराया जा रहा है। इसमें रोज एक यजमान सपत्नीक यजमान का कार्य पूर्ण कराता है। आज के यजमान ब्रह्मदेव उपाध्याय ने अपनी पत्नी नन्हका देवी के साथ आहुतियां डालीं। रोज अपराह्न तीन बजे से सायं तक प्रवचन का कार्यक्रम भी चलता है। सायं सात बजे आरती होती है। आज के प्रवचन में बोलते हुए श्री संत दास जी महाराज ने धनुष यज्ञ के विषय में प्रवचन करते हुए कहा कि बड़े बड़े बलवान राजा जो सीता के विवाह की लालसा पाने वाले धनुष तोड़ने का प्रयास किया, लेकिन सभी कठिन प्रयास के बाद भी शिव धनुष हिला भी नहीं पाए और उपहास का पात्र बनते गए। लेकिन जब भगवान शिव ने धनुष तोड़ा तो वह शिव धनुष तिनके के समान टूटकर बिखर गया। ऐसा इसलिए हुआ कि अन्य राजा अहंकार में भरकर शिव धनुष के विषय में सोचा कि पल भर में तोड़ दूंगा लेकिन वह रत्ती भर भी धनुष हिला नहीं सके। जबकि भगवान श्रीराम ने मस्तक नवाकर प्रार्थना की और कहा कि आप कृपा करें जिससे सीता का विवाह हो जाए। इस पर धनुष फूल सा हल्का हो गया।

Spotlight

Related Videos

अविश्वास प्रस्ताव से बीजेपी को कितना खतरा? समझिए, आंकड़ों के जरिए

जब सत्ता, सियासत और साम्राज्य के मायने सिकुड़कर चंद मुद्दों में सिमट जाएं तो समझ जाइए देश में चुनाव होने वाले हैं और चुनावों से पहले थोड़ा ड्रामा होना लाजमी होता है।

19 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen