अमेरिका के नापाक इरादों से किया आगाह

Bhadohi Updated Mon, 21 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

भदोही। पयाम-ए-मोहम्मद सल्ल. एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी द्वारा बीती रात नूरेइस्लामपुर में आयोजित जलसे में मौलानाओं ने मुसलमानों को अमेरिका के नापाक इरादों से आगाह किया। मौलाना अतीकुर्रहमान नदवी ने कहा यदि अमेरिका के नापाक इरादों को फेल करना है तो केवल मुसलमानों को ही नहीं भारतीयों को मिल्लत से काम लेना होगा।
विज्ञापन

मौलाना ने कहा कि यह इतिहास है कि जिन्होंने इस्लाम के खिलाफ मुहिम चलाई अल्लाह ने उसे नेस्तनाबूद कर दिया। हमारे सामने यमन के बादशाह के नापाक इरादों का उदाहरण है। जो खुद अपनी पूरी फौज के साथ हलाक हो गया। अगर अमेरिका ने अपने अंदर सुधार न किया तो यही हश्र उसका भी होने वाला है। जलसे में मौलाना मुरतुजा मदनी ने कहा कि आज अगर मुसलिम समाज को जद्दोजहद का सामना करना पड़ रहा है तो इसका कारण खुद मुसलमान ही है। अफसोस होता है कि मुसलमान इस्लामी कानून कायदा भूल कर गलत राह पर भटक रहा है।
उन्होंने मुसलिम युवाओं में इस्लाम के प्रति जज्बा पैदा करने की अपील की। इस नेक काम में बड़े-बुजुर्ग नेकनीयती से युवकों को सही रास्ता दिखाने का काम करें। जलसे की शुरूआत कारी अबुल फजल के तेलावते कुरआन से हुई। नेजामत मो.सालिक ने किया। जलसे में सोसाईटी प्रमुख अब्दुल बारी, फरीद अहमद, नदीम अहमद, मो.आरिफ अंसारी, मो.अफजल अंसारी, मो.साजिद, आफताब आलम, मो.अनस, मो.शोएब, शाहिद जमाल आदि उपस्थित रहे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us