अमेरिका के नापाक इरादों से किया आगाह

Bhadohi Updated Mon, 21 May 2012 12:00 PM IST
भदोही। पयाम-ए-मोहम्मद सल्ल. एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी द्वारा बीती रात नूरेइस्लामपुर में आयोजित जलसे में मौलानाओं ने मुसलमानों को अमेरिका के नापाक इरादों से आगाह किया। मौलाना अतीकुर्रहमान नदवी ने कहा यदि अमेरिका के नापाक इरादों को फेल करना है तो केवल मुसलमानों को ही नहीं भारतीयों को मिल्लत से काम लेना होगा।
मौलाना ने कहा कि यह इतिहास है कि जिन्होंने इस्लाम के खिलाफ मुहिम चलाई अल्लाह ने उसे नेस्तनाबूद कर दिया। हमारे सामने यमन के बादशाह के नापाक इरादों का उदाहरण है। जो खुद अपनी पूरी फौज के साथ हलाक हो गया। अगर अमेरिका ने अपने अंदर सुधार न किया तो यही हश्र उसका भी होने वाला है। जलसे में मौलाना मुरतुजा मदनी ने कहा कि आज अगर मुसलिम समाज को जद्दोजहद का सामना करना पड़ रहा है तो इसका कारण खुद मुसलमान ही है। अफसोस होता है कि मुसलमान इस्लामी कानून कायदा भूल कर गलत राह पर भटक रहा है।
उन्होंने मुसलिम युवाओं में इस्लाम के प्रति जज्बा पैदा करने की अपील की। इस नेक काम में बड़े-बुजुर्ग नेकनीयती से युवकों को सही रास्ता दिखाने का काम करें। जलसे की शुरूआत कारी अबुल फजल के तेलावते कुरआन से हुई। नेजामत मो.सालिक ने किया। जलसे में सोसाईटी प्रमुख अब्दुल बारी, फरीद अहमद, नदीम अहमद, मो.आरिफ अंसारी, मो.अफजल अंसारी, मो.साजिद, आफताब आलम, मो.अनस, मो.शोएब, शाहिद जमाल आदि उपस्थित रहे।

Spotlight

Related Videos

गुरुवार को इस मुहूर्त पर न करें कोई भी काम, लगा है राहुकाल

जानना चाहते हैं कि गुरुवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र, दिन के किस पहर में करने हैं शुभ काम और कितने बजे होगा शुक्रवार का सूर्योदय? देखिए, पंचांग गुरुवार 22 फरवरी 2018।

22 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen