विज्ञापन

नगर में फल फूल रहा है जिस्मफरोशी का धंधा

Bhadohi Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
भदोही। नगर और आसपास के क्षेत्रों में जिस्मफरोशी का धंधा फलफूल रहा है। कई मामलों में सुराग होने के बाद भी पुलिस आंख मूंद लेती है। यही कारण है कि इस धंधे पर रोक नहीं लग पा रही है। रविवार को इस तरह का एक ताजा मामला सामने आने पर नगर में सनसनी फैल गई। रजपूरा पुलिस चौकी द्वारा बीती रात एक टाटा इंडिका कार में जिस्मफरोशी करते एक युवती समेत दो युवकों को गिरफ्तार तो किया लेकिन बाद में केवल कार का चालान कर उन्हें छोड़ दिया गया।
विज्ञापन
विज्ञापन
जानकारी के अनुसार बीती रात लगभग 2 बजे गश्त कर रही पुलिस को ज्ञानपुर रोड हरियांव में सड़क किनारे एक सफेद रंग की कार खड़ी दिखी। इतनी रात गए कार को संदिग्ध लगने पर पुलिस ने पास जाकर शीशे से अंदर झांका तो सन्न रह गई। इसके बाद पुलिस ने दरवाजा खुलवाया तो बताते हैं कि अंदर से दो युवक और एक युवती निकली जो नग्नावस्था में थे। चालक सहित चारों को रात ही पुलिस रजपूरा पुलिस चौकी ले आई। लेकिन सुबह तक मामला केवल कागजात के अभाव में गाड़ी के चालान कर सीमित हो चुका था।
पुलिस इस पूरे मामले को मीडिया से बचाती रही लेकिन गाड़ी के अंदर के जो दृश्य कैमरों में कैद हुए वे पूरी असलियत बयान कर रहे थे। गाड़ी के अंदर आपत्तिजनक चीजें, दुपट्टा और एक रुमाल पर दिल बनाकर एक प्रेमी युगल का नाम लिखा है। बताते हैं कि रात ही युवती के घर वालों को बुला कर उसे उनके हवाले कर युवकों को भी छोड़ दिया गया। इस बाबत रजपूरा पुलिस ने बताया कि नेशनल तिराहे से बीती रात एक गाड़ी मिली थी जिसके पास कागजात नहीं थे इसलिए उसका चालान कर दिया गया है। अन्य किसी बात से पुलिस ने इंकार किया।

Recommended

सर्दी में ज्यादा खाएं देसी घी, जानें क्यों कहते हैं इसे ब्रेन फूड और क्या-क्या हैं इसके फायदे
ADVERTORIAL

सर्दी में ज्यादा खाएं देसी घी, जानें क्यों कहते हैं इसे ब्रेन फूड और क्या-क्या हैं इसके फायदे

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कर्नाटक संकट: 18 जनवरी को कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, बीजेपी पर लगाया हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप

कर्नाटक में चल रहे सियासी नाटक को कांग्रेस ने आधारहीन करार दिया। फिल्डिंग करते हुए कर्नाटक के कांग्रेस प्रभारी समेत सांसद ने भी बीजेपी पर खरीद-फरोख्त के आरोप लगा दिए।

16 जनवरी 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree