विज्ञापन

कर्मठ और ईमानदार कार्यकर्ता थे छोटेलाल

Bhadohi Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
मोढ़/भदोही। बसपा एमएलसी तथा मिर्जापुर-इलाहाबाद के जोनल कोआर्डिनेटर डा.विजय प्रताप बुधवार को दिवंगत पूर्व कोआर्डिनेटर छोटेलाल गौतम के घर पहुंचे। उन्होंने स्व.गौतम की परिजनों को दुख की इस घड़ी में हर साथ देने का वादा करते हुए आर्थिक सहायता भी दी। उन्होंने कहा कि वे पार्टी मुखिया से परिजनों को और सहायता उपलब्ध कराने की बात करेंगे।
विज्ञापन
डा.विजय विमान द्वारा बाबतपुर पहुंचे। वहां से कार द्वारा वे स्व.छोटेलाल गौतम के निवास डुड़वा धर्मपूरी पहुंचे। उन्होंने दिवंगत के शोकसंतप्त पिता और पत्नी व बच्चों से मुलाकात कर उन्हें आर्थिक सहायता दी। उन्होंने कहा कि छोटेलाल गौतम निर्विवाद रूप से पार्टी के कर्मठ, इमानदार कार्यकर्ताओं में से एक थे। यदि कहा जाए कि भदोही जनपद में पार्टी को खड़ा करने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई तो गलत नहीं होगा। उन्होंने परिजनों और बच्चों को आश्वस्त किया कि वे पार्टी मुखिया बहन कु.मायावती जी से उनके द्वारा किए गए कार्यों की चर्चा करते हुए उन्हें आर्थिक सहायता देने हेतु आग्रह करेंगे। उधर बाबतपुर से डुड़वा धर्मपूरी जाते एमएलसी का बसपाजनों ने इंदिरा मिल चौराहे पर स्वागत किया। लोगों ने उन्हें माला पहना कर जिले में दोबारा आने का न्योता दिया। स्वागत करने वालों में जिलाध्यक्ष लल्लू प्रसाद गौतम, हाजी इरशाद खां पप्पू, सुरेश गौतम, जेपी चौधरी, जयशंकर पाल, जावेद खां, अमरेश बहादुर सिंह, सफीर शाह, कमलाशंकर राव, सलाहुद्दीन अंसारी, कमलेश गौतम, सचिन तिवारी, राजेश गौतम, दिनेश सरोज, राजू गौतम, संजय पांडेय, भारत भूषण, दिलीप गौतम, मुन्नीलाल पाल, संजय गौड़, कन्हैया यादव आदि थे।
पूर्व सांसद ने जताई संवेदना
चौरी। पूर्व सांसद रमेश दूबे ने बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष छोटेलाल गौतम के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। डुड़वा धर्मपुरी स्थित बसपा नेता के आवास पर जाकर पूर्व सांसद ने परिजनों को सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि श्री गौतम बेहद अच्छे व व्यवहारिक इंसान थे।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

जसवंत सिंह के बेटे मानवेन्द्र सिंह के कांग्रेस में जाने की पूरी कहानी, बीजेपी को होगा ये नुकसान

बुधवार को बीजेपी के संस्थापकों में से एक जसवंत सिंह के बेटे मानवेन्द्र सिंह बीजेपी का साथ छोड़ कांग्रेस में शामिल गए। आखिर क्या हुआ कि मानवेंद्र ने कांग्रेस का हाथ पकड़ लिया। देखिए रिपोर्ट।

18 अक्टूबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree