अस्पतालों की मरम्मत को मिला बजट लैप्स

Badaun Updated Thu, 08 May 2014 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

बदायूं। वित्तीय वर्ष खत्म होने से पहले स्वास्थ्य विभाग अस्पतालों की मरम्मत के काम को नहीं निपटा सका। ऐसे में सीएचसी, पीचीएस की रंगाई-पुताई और मरम्मत के लिए मिले बजट में से करीब 5.40 लाख रुपये लैप्स हो गए। जिले के कई अस्पताल मरम्मत और रंगाई-पुताई का इंतजार करते रहे लेकिन विभागीय अधिकारियों ने सुध नहीं ली।
विज्ञापन

जिले में 12 सीएचसी, पांच पीएचसी और 43 न्यू पीएचसी हैं। इनकी रंगाई-पुताई और मरम्मत आदि के लिए शासन हर साल लाखों रुपये का बजट देता है। इस बजट को वित्तीय वर्ष के अंदर ही खत्म करना होता है। वित्तीय वर्ष 2013-14 में कुल बजट में से करीब 5.40 लाख रुपये स्वास्थ्य विभाग खर्च ही नहीं कर सका। ऐसे में कई सीएचसी और पीएचसी की मरम्मत और रंगाई-पुताई नहीं हो सकी। बजट खर्च नहीं हो पाने की वजह से एक अप्रैल को ये लैप्स हो गया।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us