साधू को पीट-पीटकर अधमरा किया

Badaun Updated Thu, 08 May 2014 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

बदायूं। चोर-लुटेरों ने अब श्मशान घाट जैसे ठिकानों को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है। मंगलवार रात लालपुल स्थित श्मशान घाट में घुसे चोरों ने वहां की रखवाली करने वाले साधु की पिटाई कर दी। गंभीर हालत में साधु को निजी अस्पताल में रेफर किया गया है। हालांकि परिसर से कोई सामान चोरी नहीं हो सका।
विज्ञापन

सोत नदी पुल के किनारे मुक्तिधाम नाम से श्मशान घाट है। पंजाबी समाज सेवा समिति इसका संचालन करती है। परिसर के अंदर मंदिर, सभागार आदि भी बना हुआ है। शहर के कबूलपुरा मोहल्ला निवासी अक्षय नाम के साधु इसकी देखभाल का काम करते हैं। मंगलवार रात भी वह परिसर के अंदर ही थे। बताते हैं कि सुबह के वक्त शव वाहन चलाने वाले ड्राइवर सुनील जब परिसर में दाखिल हुए तो देखा कि कक्ष में साधु अक्षय लहूलुहान अवस्था में पड़े थे। उनके सिर और शरीर के अन्य हिस्सों पर किसी वजनदार चीज से वार किया गया था। मंदिर के दानपात्र का ताला टूटा पड़ा था और कुछ सिक्के यहां बिखरे पड़े थे। नल का हत्था भी निकला हुआ था। शायद इसी से अक्षय पर वार किए गए थे। सुनील ने इसकी सूचना समिति अध्यक्ष नरेंद्र दुआ को दी। तब श्री दुआ के साथ तमाम अन्य लोग भी मौके पर पहुंचे। सूचना पर सदर कोतवाल वीरपाल सिरोही भी मौके पर आ गए। घायल साधु बोलने की स्थिति में नहीं थे। उन्हें पुलिस ने जिला अस्पताल भिजवाया। फिर उन्हें निजी अस्पताल रेफर कर दिया गया। श्री दुआ और समिति के लोगों ने श्मशान घाट का निरीक्षण करने के बाद बताया कि किसी तरह की चोरी या लूट नहीं हुई है। उन्होंने दावा किया कि दानपात्र पहले से खाली था। समिति की ओर से हरीश चंद्र बजाज ने सदर कोतवाली में अज्ञात लोगों के खिलाफ साधु अक्षय पर हमले की रिपोर्ट दर्ज कराई है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us