डाककर्मी और पुलिस के खिलाफ ज्ञापन

Badaun Updated Tue, 06 May 2014 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

बदायूं। पिछले दिनों बालाजी धाम में हुए झगड़े और फिर पुलिस कार्रवाई के विरोध में रोष कम होने का नाम नहीं ले रहा। सोमवार को कई अनुयायियों ने डीएम से मुलाकात की। उनसे दोषी डाककर्मी के अलावा एकतरफा कार्रवाई पर पुलिस के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की।
विज्ञापन

उझानी रोड स्थित बालाजी दरबार के तमाम साधकों ने डीएम सीपी त्रिपाठी से उनके कार्यालय में मुलाकात की। कहा कि 22 अप्रैल को मंदिर परिसर में काफी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे। तब डाक विभाग का एक कर्मचारी दरबार में आया। उसने एक महिला भक्त से अमर्यादित आचरण किया। इसके बाद महिला के परिवारवालों से उसकी धक्कामुक्की हुई। डाककर्मी अपने व्यवहार के लिए अपने विभाग में खासा चर्चित रहा है। भक्तों ने आरोप लगाया कि इसी सिलसिले में एक मई को सिविल लाइंस पुलिस मंदिर में आई और जूते पहनकर अंदर घुस गई। सेवादारों को भी हथकड़ी पहनाकर बेइज्जती की गई। दो सेवादारों पर एकतरफा कार्रवाई कर दी। भक्तों ने आरोपी डाककर्मी और उसके पुत्रों पर मुकदमा दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी की मांग की। इसके अलावा डीएम से पुलिस स्टाफ को भी निलंबित करने की मांग की।
ज्ञापन सौंपने वालों में डॉ.सुवेंदु माहेश्वरी, सुभाष दुआ, स्वत्रंत प्रकाश एडवोकेट, चंद्रप्रकाश गुप्ता, विनेश रस्तोगी, आलोक रस्तोगी आदि शामिल थे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us