बलमजी बनवा लो मकान, तभी आऊंगी ससुराल

Badaun Updated Tue, 25 Mar 2014 05:34 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

बदायूं। रविवार को पुलिस ऑफिस में लगे परिवार परामर्श केंद्र में कई अजीबोगरीब पारिवारिक विवाद सामने आए। कुल 129 मामले समाजसेवियों के पटल पर आए। इनमें से 13 प्रकरण में समझौता हो गया तो लगातार दोनों पक्षों की गैरहाजिरी की वजह से 20 मामलों को निरस्त कर दिया गया। शेष मामलों में सुनवाई को अगली तारीख तय की गई है।
विज्ञापन

एसपी सिटी मानसिंह चौहान की अध्यक्षता में हुए परामर्श केंद्र में एक प्रकरण काफी दिलचस्प था। एक महिला ने पति के खिलाफ वाद दायर किया था। दोनों पक्ष सामने आए तो महिला ने कहा कि वह ससुराल जाएगी तो अपने ही मकान में रहेगी। उसके पति ने कहा कि वह चाहे तो अलग कमरा किराए पर लेकर रख सकता है। इस पर महिला ने कहा कि वह मायके में अपनी सहेलियों को बता चुकी है कि ससुराल में उसका अपना मकान है। अब वह किराए के मकान में जाएगी तो उसकी बेइज्जती हो जाएगी। पति चाहे कितनी भी साल में मकान बनवा ले, तब तक वह मायके में रह लेगी। महिला की बातें सुनकर यहां मौजूद लोग दंग रह गए। कासगंज की निवासी महिला ने अपनी सास पर मारपीट करने के आरोप लगाकर शिकायत की थी। केंद्र में जब सास-बहू सामने आईं तो बहू ने सास को सार्वजनिक रूप से जीभरकर गालियां दीं। खुद ससुराल जाने से भी इंकार कर दिया। बरेली के सरैली थाना अंतर्गत निवासी एक महिला ने पति पर पीटने का आरोप लगाया था। परामर्श केंद्र में झगड़े का राज कुछ और निकला। पत्नी ने कहा कि पति उसके मायके में आकर रहे तो वह शिकायत वापस ले सकती है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X