कर्मचारियों को साहब से ज्यादा हड़का रहा स्टेनो

Badaun Updated Fri, 21 Mar 2014 05:33 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

बदायूं। लोकसभा चुनाव के लिए प्रभारी अधिकारी कार्मिक एवं प्रशिक्षण बनाए गए सीडीओ के स्टेनो से कर्मचारी बेहद खफा हैं। आरोप है कि साहब से ज्यादा स्टेनो कर्मचारियों को हड़काता है। उसके तानाशाही रवैये से परेशान कर्मचारियों ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग की है।
विज्ञापन

हरविलास शर्मा ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भेजे पत्र में कहा है कि सीडीओ दफ्तर में कार्यरत फहीम रिजवी मूलरूप से परियोजना निदेशक (डीआरडीए) के स्टेनो हैं। फहीम को तमाम शिकायतों के बाद 20 जुलाई 2009 को तत्कालीन जिलाधिकारी के आदेश पर उनके मूल विभाग में वापस भेज दिया गया था लेकिन कुछ समय बाद ही राजनीतिक दबाव में उन्हें फिर सीडीओ का स्टेनो बना दिया गया। आरोप है कि लोकसभा चुनाव में ड्यूटी लगाने और काटने के नाम पर फहीम कर्मचारियों से जमकर उगाही कर रहे हैं। तानाशाही का आलम यह है कि सफाई कर्मचारियों को संबद्ध करके फहीम उनसे अपनी गाड़ी चलवा रहे हैं। श्री शर्मा ने निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने के लिए फहीम को उनके मूल विभाग में वापस भेजने की मांग की है।

इस सबंध में फहीम का कहना है कि यह सभी शिकायतें फर्जी हैं। शिकायतकर्ता सामने आकर जांच करा लें। सच सामने आ जाएगा। कोई गलत काम नहीं कर रहा हूं। ड्यूटी लगाने न लगाने का काम एनआईसी का है। इसमें मेरा कोई दखल नहीं है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X