मुंसिफ कोर्ट के लिए अनशन पर वकील

Badaun Updated Sat, 25 Jan 2014 05:54 AM IST
बिल्सी। मुंसिफ कोर्ट की स्थापना की मांग को लेकर शुक्रवार से वकीलों ने अनिश्चितकालीन अनशन शुरू कर दिया।
पहले से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बार एसोसिएशन के बैनर तले वकील तहसील पहुंचे और अनशन शुरू कर दिया। इस दौरान मुंसिफ कोर्ट संघर्ष समिति के अध्यक्ष हेमेंद्र कुमार सिंह ने प्रशासन को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय तहसील में मुंसिफ कोर्ट की स्थापना के लिए सहमति दे चुका है। इसको लेकर तहसील प्रशासन ने भूमि अर्जन प्रपत्र चार की कार्यवाही कर बीती तीन दिसंबर को रिपोर्ट डीएम को भेजी है, मगर इसके बाद से मामला लटका है। कोर्ट के लिए अभी तक भूमि का अधिग्रहण नहीं किया गया। उन्होंने तहसील में मुंसिफ कोर्ट न होने से लोगों की दिक्कतों को भी उठाया। अधिवक्ता विवेक राठी ने कहा कि, अभी तक बिल्सी क्षेत्र का काम मुंसिफ कोर्ट सहसवान में किया जा रहा है। इससे लोगों को परेशानी हो रही है। बाद में डीएम को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार बीके शर्मा को सौंपा गया। इस मौके पर बार के अध्यक्ष संजीव कुमार सिंह, रामप्रकाश श्रीवास्तव, सोमपाल सिंह, मुनीष सक्सेना, वागीश माहेश्वरी, राजीव सक्सेना, रामनाथ शर्मा, अजयपाल सिंह, सुधीर शर्मा, जेके सक्सेना, सुधीर सिन्हा, सतेंद्र पाल यादव, ब्रजेश कुमार सिंह, ब्रजभान सिंह, संदीप सक्सेना, अखिलेश सक्सेना, अखिल कुमार, योगेश कुमार, ब्रजेंद्र भानु सिंह, प्रेमपाल सिंह, प्रदीप सक्सेना आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Related Videos

चारा घोटाला केस में लालू को जेल, सुशील मोदी ने ली चुटकी

रांची की सीबीआई अदालत ने चारा घोटाला के तीसरे मामले में आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव को दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls