विज्ञापन

चिप्स के पैकेट और कचरी-पापड़ भी ले गए चोर

Badaun Updated Thu, 08 Aug 2013 05:36 AM IST
विज्ञापन
बदायूं। शहर में चोरों के कारनामे लगातार बढ़ते जा रहे हैं। मालवीयगंज बाजार की एक किराना शॉप में उन्होंने नकब लगाकर गुल्लक के रुपये और माल उड़ा लिया। पीड़ित ने सदर कोतवाली में तहरीर दी है। रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सकी है।
विज्ञापन
शहर के पंजाबी चौक निवासी आलोक सेठी की किराना शॉप मालवीयगंज मार्केट में हलवाई चौक के पास है। बीती शाम वह रोज की तरह दुकान बंद करके घर गए थे। तभी चोरों ने दक्षिण दिशा की दीवार से नकब लगाकर दुकान में घुसने की जगह बना ली। फिर उसमें अंदर लगा टिनशेड काटकर दो हजार रुपये की रेजगारी और बिक्री के लगभग आठ हजार रुपये चोरी कर लिए। इसके अलावा किराना शॉप में मौजूद चिप्स, कचरी और पापड़ समेत करीब पांच हजार रुपये का माल भी चोर ले गए। सुबह जब राह गुजरते लोगों ने दुकान में नकब लगा देखा तो उन्हें चोरी की जानकारी हुई। इसकेबाद उन्होंने आलोक को फोन करके जानकारी दी। आलोक ने इस मामले में सदर कोतवाली में तहरीर दी। पुलिस ने मौका मुआयना किया है पर देर शाम तक रिपोर्ट दर्ज नहीं की।


सुरक्षित इलाकों में सेंध लगा रहे चोर
शहर में चोरी की वारदातें लगातार बढ़ रही हैं। इसके साथ ही यह तथ्य भी प्रकाश में आया है कि चोरों की कारगुजारी किसी पुलिस पिकेट स्थल के पास ही होती है। इसके अलावा वह नकदी के अलावा खाने पीने की चीजों को ले जाना नहीं भूलते। हलवाई चौक के पास जहां आलोक की दुकान में नकब लगाया गया, वो जगह पिकेट से बमुश्किल पंद्रह कदम दूर है। जाहिर है कि तोड़फोड़ की आवाज पिकेट स्थल तक जरूर आई होगी। अब सवाल उठता है पिकेट पर तैनात सिपाहियों की सक्रियता पर, या तो वह मौके पर तैनात नहीं रहे होंगे या फिर उन्होंने इस आवाज पर ध्यान नहीं दिया। बता दें कि पिछले दिनों में सुभाष चौक के पास पुलिस पिकेट स्थल के सामने चांडक्य मिष्ठान भंडार और थापा किराना स्टोर से चोरी कर ली गई थी। नकदी के अलावा यहां से चोर चाकलेट और मेवा ले गए थे। इसके अलावा छह सड़का पिकेट स्थल के सामने सखावत बिल्डिंग के रेडीमेड गारमेंट में भी चोरी की गई। वहां से चोर कपड़े भी ले गए। गोपी चौक की किराना और हलवाई की दुकानें भी चोरी का शिकार हुईं। यहां भी हर वक्त पुलिस पिकेट रहती है।


एसएसपी साहब, कसिए शिकंजा
जिले में नए एसएसपी दलवीर सिंह की आमद के साथ ही गश्त और पिकेट व्यवस्था में सुधार हुआ है। इससे पहले जिले भर में गश्त व्यवस्था बदहाल हो गई थी। पुलिस पिकेट स्थल रात 11 बजे के बाद सूने हो जाते थे और गश्ती पुलिस की मूवमेंट रात बारह बजे के बाद थम जाती थी। अमर उजाला ने इस स्थिति का कई बार खुलासा किया। उस वक्त लापरवाह सिपाहियों और स्टाफ की शिकायत अफसर नजरअंदाज कर देते थे, जिससे निजाम बिगड़ गया था। अब नई परिस्थिति में माहौल बदला है, पर इसमें व्यापक सुधार की जरूरत है। गश्त और पिकेट के प्रभावी होने से ही चोरी लूट जैसी वारदातों पर अंकुश लगाया जा सकेगा। वैसे नए एसएसपी ने इसके संकेत दिए हैं। देर रात उनके खुद चेकिंग करने से स्टाफ चौकस हुआ है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

महिला टी20 विश्वकप : भारत की बेटियों ने ऑस्ट्रेलिया को 48 रनों से हराया

महिला टी20 विश्वकप में भारत की बेटियों ने एक और जीत दर्ज की। भारतीय महिला टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 48 रनों से मात दी। टूर्नामेंट में भारतीय महिला टीम की ये लगातार चौथी जीत है।

18 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree