चीनी मिल कर्मियों ने किया आंदोलन का ऐलान

Badaun Published by: Updated Tue, 09 Jul 2013 05:32 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

कहा, वेतन पुनरीक्षण के मुद्दे पर चुप नहीं रहेंगे
विज्ञापन

बदायूं। लखनऊ में रविवार को हुए चीनी मिल कर्मचारियों के विभिन्न संगठनों के सामूहिक सम्मेलन से लौटे उत्तर प्रदेश चीनी मिल मजदूर संघर्ष समिति के सदस्य मो. असरार अहमद ने कहा है कि चीनी मिल कर्मचारी संगठन वेतन पुनरीक्षण को लेकर एकजुट हैं। उन्होंने घोषणा की कि सम्मेलन के फैसले के अनुसार मिल के जीएम से लेकर सीएम तक अपनी बात पहुंचाने के लिए इसी महीने ज्ञापन सौंपे जाएंगे। वेतन में असमानता और कम वेतन होने को लेकर कर्मचारी अब चुप बैठने वाले नहीं हैं।
श्री अहमद ने बताया कि वर्ष 1978-79 में शिक्षकों और राज्य क र्मियों का वेतन चीनी मिल कर्मियों से कम हुआ करता था, लेकिन अब उल्टा हो गया है। राज्य और केंद्र सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के कारण चीनी मिल कर्मियों को वेतन काफी कम मिल रहा है। उन्होंने कहा कि वेतन वृद्धि के लिए सभी चीनी मिल संगठन एकजुट हैं।

सम्मेलन में लिए गए फैसले के आधार पर 11 जुलाई को चीनी मिल कर्मचारी संघर्ष समिति प्रदेश के मुख्यमंत्री को इस संबंध में ज्ञापन सौंपेंगे। वहीं सभी चीनी मिलों के जीएम को मिल कर्मचारी 22 जुलाई को ज्ञापन सौंपकर वेतन वृद्धि की मांग करेंगे। श्री अहमद ने सभी चीनी मिल क र्मचारी संगठनों से एकजुट होकर आंदोलन को तैयार रहने का आह्वान किया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X