विज्ञापन
विज्ञापन

मूसाझाग क्षेत्र में एक दर्जन बंदरों की मौत

Badaun Updated Sun, 24 Feb 2013 05:30 AM IST
सिलहरी (बदायूं)। थाना मूसाझाग क्षेत्र के गांव मचलई में शनिवार को करीब एक दर्जन बंदरों के शव मिलने से सनसनी फैल गई। गांव वालों ने कुछ लोगों पर बंदरों को जहर देकर मारने का आरोप लगाया है। सूचना पर पुलिस भी गांव पहुंच गई। वन विभाग की टीम ने बंदरों के शवों को कब्जे में ले लिया है। मौत की वजह जानने के लिए उनका पोस्टमार्टम किया जाएगा। एक ही दिन में दर्जन भर बंदरों की मौत से गांव के लोगों में रोष है।
विज्ञापन
गांव मचलई के कुछ लोगों ने सुबह को दो बंदरों को एक स्थान पर मरा हुआ देखा। खबर पूरे गांव में फैल गई। बाद में पता चला कि गांव में अलग-अलग स्थानों पर दर्जन भर बंदर मरे हुए पड़े हैं। इससे सभी लोगों में रोष उत्पन्न हो गया। किसी ने इसकी सूचना थाना मूसाझाग पुलिस को दी। एसओ अवनीश कुमार फोर्स के साथ गांव पहुंच गए। उन्होंने गांव के लोगों से बात कर बंदरों की मौत की वजह से पता लगाने की कोशिश की। गांव वालों ने कुछ लोगों पर जहर देकर बंदरों को मारने का आरोप लगाया। पुलिस ने सभी बंदरों के शवों को कब्जे में ले लिया। वन विभाग की टीम भी गांव पहुंच गई। पुलिस ने बंदरों के शव टीम को सौंप दिए।
एसओ का कहना है कि बंदरों की मौत की वजह जानने के लिए वन विभाग द्वारा सभी का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। गांव के लोगों का कहना है कि घटना की बारीकी से जांच होनी चाहिए। ताकि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई हो सके।
अभी तय नहीं कहां होगा पोस्टमार्टम
वन विभाग के रेंजर ने आदेश दिया है कि सभी मृत बंदरों के शव डिवीजन बदायूं लाए जाएं। इसके बाद तय होगा कि पोस्टमार्टम कहा होगा। जरुरत पड़ने पर पोस्टमार्टम के लिए शवों को आईवीआरआई बरेली भेजा जा सकता है।-महेंद्र पाल सिंह, बीट प्रभारी वन विभाग विकासखंड जगत
इंसेट-
अगर किसी ने बंदरों को जहर देकर मारा है तो यह बहुत ही निदंनीय है। बंदरों से किसी की क्या दुश्मनी। अगर किसी ने इन्हें जहर दिया है तो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होनी ही चाहिए।-जाहिद हुसैन, ग्राम प्रधान मचलई

दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो:महेश
सिलहरी। भाजपा के पूर्व विधायक महेश चंद्र गुप्ता ने गांव मचलई में दर्जनभर बंदरों की मौत की कड़े शब्दों में निंदा की है। श्री गुप्ता ने कहा कि एक साथ इतने बंदरों की कैसे मौत हुई, इसकी बारीकी से जांच होनी चाहिए। जो भी दोषी हों उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो। वह इस मामले को लेकर पुलिस के आला अफसरों से भी मिलेंगे, ताकि दोषी व्यक्ति किसी सूरत में बच न सकें।
विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कमलेश तिवारी हत्याकांड में ATS को मिली कामयाबी, दोनों मुख्य आरोपी गिरफ्तार

कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार दोनों आरोपियों को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है. दोनों आरोपियों के नाम अश्फाक और मुईनुद्दीन है.

22 अक्टूबर 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree