बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

दबाव में झुके अनुबंधित बसों के मालिकान

Badaun Updated Sun, 10 Feb 2013 05:31 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

बदायूं। प्रदेश भर में चल रही अनुबंधित बसों की हड़ताल कमजोर पड़ने लगी है। यह हड़ताल शुक्रवार को शुरू हुई थी। इसके बाद रीजन के आरएम ने अनुबंध खत्म करने की चेतावनी जारी की तो एक घंटे के बाद कुछ बस मालिक हड़ताल खत्म कर अपनी बसें अडडे पर ले आए।
विज्ञापन

उत्तर प्रदेश अनुबंधित बस आनर्स एसोसिएशन लखनऊ की ओर से सभी जिलों के रोडवेज में अनुबंधित बस मालिकों से अपील की थी। बदायूं डिपो में भी इसी अपील के तहत डिपो में चल रही 29 बसों ने अपनी हड़ताल शुरू कर दी थी। बसों के संचालन प्रभावित होने की वजह से दिन भर यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा।

बसों के संचालन को दुरुस्त करने के लिए एआरएम पीएस मिश्र ने एस्मा के तहत सभी अनुबंधित बस मालिकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी थी। शनिवार को एआरएम की शिकायत पर आरएम पीके बोस ने सभी अनुबंधित बस मालिकों को दोपहर दो बजे तक का समय देकर हड़ताल खत्म करने को कहा और हड़ताल खत्म नहीं करने पर अनुबंध खत्म कर एस्मा के तहत कार्यवाही करने की चेतावनी दी। आदेश आने के बाद बस मालिकों ने एआरएम से एक घंटे का समय मांगा था। दोपहर पौने तीन बजे से कुछ मालिकों ने हड़ताल खत्म कर अपनी बस लेकर बस अड्डे पर पहुंच गए। खबर लिखे जाने तक, 14 बस मालिकों ने हड़ताल खत्म कर अपनी बसों को बस अड्डे पर लगा दी। एआरएम ने सभी बसों को परिचालक मुहैया कराकर रूटों पर भेज दिया है।

कुंभ को 55 में से सिर्फ 43 बसें ही हुई रवाना
इलाहाबाद में चल रहे कुंभ के लिए निगम ने बदायूं डिपो से 55 बसों की डिमांड रखी थी। शुक्रवार को कुंभ के लिए इन बसों को रवाना होना था। इसी दिन अनुबंधित बसों ने अपनी मांगों के चलते हड़ताल शुरू कर दी। एआरएम पीएस मिश्र ने डिपो की समस्या को देखते हुए आरएम से निवेदन किया और कुंभ में जाने के लिए 13 बसों को जाने से रोक लिया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us