विज्ञापन
विज्ञापन

अमीरों के स्कूल में पढ़ सकेंगे गरीबों के बच्चे

Badaun Updated Tue, 29 Jan 2013 05:30 AM IST
बदायूं। निशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम के तहत अगले साल से सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के निजी स्कूलों में कक्षा एक की 25 प्रतिशत सीटें सरकार के लिए खाली छोड़नी पड़ेंगी। इन सीटों पर सरकार दुर्बल वर्ग के बच्चों को प्रवेश दिलाएगी और उनकी पढ़ाई का पूरा खर्च उठाएगी।
विज्ञापन
अनिवार्य बाल शिक्षा अधिनियम 2009 के तहत कक्षा एक से आठ तक सभी बच्चों को प्रदेश के सरकारी और परिषदीय विद्यालयों में निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा दिए जाने के लिए सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग को शासनादेश जारी कर दिए हैं। इस योजना के तहत सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों को कक्षा एक से कक्षा आठ तक 25 प्रतिशत सीटें सरकार के लिए रिक्त रखनी पड़ेगी। इन सीटों पर 14 वर्ष तक के अलाभित समूह और दुर्बल वर्ग के बालकों को प्रवेश दिलाया जाएगा। इन बच्चों की पढ़ाई, लिखाई, ड्रेस और फीस का खर्चा सरकार भरेगी। यह योजना अगले सत्र से अमल में लाई जाएगी। अगले सत्र में केवल कक्षा एक में 25 फीसदी गरीब बच्चों को प्रवेश दिलाया जाएगा।


सीबीएसई और आईसीएसई स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटों पर प्रवेश दिलाने के लिए शासनादेश आ गया है। इसको लागू कराने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा। जल्द ही प्रवेश लेने वाले बच्चों की सूची जारी की जाएगी।
कृपा शंकर वर्मा, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी


स्कूल की फीस होगी निर्धारित
सभी स्कूलों की फीस अलग-अलग है लेकिन सरकार इन बच्चों को फीस देने के लिए एक निश्चित फीस तय करेगी। ऐसे में स्कूल मालिकों को अपने स्तर को बरकरार रखने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ेगी।


इन बच्चों का होगा प्रवेश
अलाभित समूह के तहत छह से 14 वर्ष के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़ा वर्ग, एसआईवी अथवा कैंसर पीड़ित माता-पिता के बच्चे और निराश्रित बेघर बच्चों को प्रवेश दिलाया जाएगा। दुर्बल वर्ग के बालक के तहत गरीबी रेखा के नीचे के, विकलांगता, वृद्धावस्था, विधवा पेंशन पाने वाले माता पिता के बच्चों का प्रवेश दिलाया जाएगा। सीटें खाली होने पर एक लाख से कम वार्षिक आय के अभिभावकों के बच्चे को आरोही क्रम में प्रवेश दिलाया जाएगा।
विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

कमलेश तिवारी हत्याकांड में ATS को मिली कामयाबी, दोनों मुख्य आरोपी गिरफ्तार

कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार दोनों आरोपियों को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है. दोनों आरोपियों के नाम अश्फाक और मुईनुद्दीन है.

22 अक्टूबर 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree