या रसूल की सदाओं से गूंजा शहर

Badaun Updated Sat, 26 Jan 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

बदायूं। हजरत मोहम्मद साहब की यौमे पैदाइश के मौके पर यहां पूरे जोशो-ओ-खरोश के साथ जुलूसे मोहम्मदी निकाला गया। इसमें खास परिधानों में सजे बच्चे आकर्षण का केंद्र रहे। ठेलों पर खाना-ए-काबा और गुम्बदे खिजरा की झाकियों को सजाकर लाया गया था। हजारों की संख्या में लोग जुलूसे मुहम्मदी में शामिल रहे।
विज्ञापन

हजरत मौलाना शेख उसैदुलहक कादरी नायब काजी-एजिला की कयादत में जुलूसे मोहम्मदी ऐतिहासिक जामा मस्जिद शम्सी के सदर दरवाजे से सुबह नौ बजे शुरू हुआ। इससे पूर्व हजरत शेख मौलाना उसैदुल हक कादरी ने अपनी तकरीर में फरमाया-आज का दिन मुसलमानों के लिए बहुत ही खुशी का दिन है। आज के दिन दुनिया में वह अजीम हस्ती तशरीफ लाई जिसने दुनिया से तमाम बुराइयों को दूर किया। भटके हुए लोगों को सीधा रास्ता दिखाया और जुल्म का खात्मा किया। जातिवाद को खत्म किया। महिलाओं का सम्मान बढ़ाया। उन्होंने अपने दुश्मनों के साथ भी बहुत अच्छा व्यवहार किया।

खतीबे हिंदोस्तान हजरत मौलाना अतीफ मियां कादरी ने फरमाया, आज उस महान पैगम्बर का जन्मदिन है जिसने खुद रोते हुओं को हंसाया है। जुलूस में हम कोई ऐसी बात न कहें जिससे किसी को तकलीफ पहुंचे। मुसलमानों का काम अमन और शांति का पैगाम देना है। इस्लाम शांति और सद्भावना का धर्म है। पड़ोसियों के साथ अच्छा सुलूक करो। शिक्षा तालीम की तरफ विशेष ध्यान दें।
जुलूस के आगे परचम चल रहा था। परचम के पीछे जुलूस की कयादत कर रहे हजरत मौलाना उसैदुल हक कादरी, हजरत अतीफ मियां कादरी, हजरत अज्जाम मियां कादरी फिर उनके पीछे हजारों की संख्या में लोग चल रहे थे। सभी यारसूलल्लाह के नारे लगाते हुए आगे बढ़ रहे थे। अपने रास्तों से होता हुआ जुलूस दोपहर 1.30 बजे जामा मस्जिद पर पहुंचकर खत्म हुआ।
जुलूसे मोहम्मदी में शिरकत करने के उपरांत ऑल इंडिया मिल्ली कौंसिल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हजरत मौलाना डॉ. यासीन अली उस्मानी ने कहा कि इस मुबारक मौके पर हम अपने तमाम देशवासियों और इंसानी बिरादरी को मुबारकबाद पेश करते हैं। उन्होंने हजरत मुहम्मद साहब की जीवनी पढ़ने का आह्वान किया। सपा के प्रदेश सचिव हाजी मजहर हुसैन ने कहा कि यह दिन हर खास-आम के लिए मुसर्रत का पैगाम लाता है। जुलूसे मुहम्मदी में सांसद धर्मेंद्र यादव, एमएलसी बनवारी सिंह यादव, डा.यासीन उस्मानी, हरप्रसाद सिंह पटेल, ब्रजेश यादव, विधायक ओमकार सिंह यादव, आदि ने भी शिरकत की।

जुलूस का रास्ता बदलने पर मानकपुर में हुआ विवाद
उझानी (बदायूं)। जुलूसे मुहम्मदी का रूट चेंज करने पर गांव मानकपुर में दो सम्प्रदायों के बीच विवाद हो गया। एक सम्प्रदाय के लोगों ने रास्ते में डनलप खड़े करके जुलूसे मुहम्मदी को आगे नहीं बढ़ने दिया। इसकी सूचना पा मौके पर पहुंचे पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। लिखित तौर पर समझौता हो गया। गांव में शांति व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस फोर्स तैनात है।
कोतवाली क्षेत्र के गांव मानकपुर में जुलूसे मुहम्मदी निकल करा था। निर्धारित रूट चेंज करने पर दूसरे सम्प्रदाय के लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। इसकी सूचना मिलने पर इंसपेक्टर गमलेश्वर बिल्टोरिया फोर्स के साथ गांव पहुंच गए। इसके बाद एसडीएम सदर बी. प्रसाद और सीओ एमएस राना भी पहुंच गए। पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने दोनों सम्प्रदाय के लोगों से बात की। समझा-बुझा देने के बाद मामला शांत हो गया। अधिकारियों के लौट जाने के बाद दूसरे सम्प्रदाय के लोगों ने कीचड़ फेंकने की शिकायत की। यह सुनकर फिर से अधिकारी गांव पहुंच गए।
बाद में पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने दोनों सम्प्रदायों के लोगों के साथ पंचायत की और फिर दोनों पक्षों में लिखित रूप से समझौता करा दिया गया। इंसपेक्टर कोतवाली का कहना है कि गांव में अब किसी तरह की कोई बात नहीं है। फिर भी गांव में सुरक्षा के लिहाज से पुलिस तैनात है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X