टोकन जारी न होने पर गन्ना किसानों ने किया हंगामा

Badaun Updated Fri, 25 Jan 2013 05:32 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

पूरनपुर। दि किसान सहकारी चीनी मिल से अचानक गन्ना किसानों को टोकन जारी करना बंद कर दिया गया। इससे आसाम हाइवे पर गन्ना भरे वाहनों के एकत्र होने से जाम लग गया। टोकन जारी न होने के विरोध में गन्ना किसानों ने हंगामा कर चीनी मिल जीएम और सीसीओ का घेराव किया। तब कहीं जाकर गन्ना किसानों को टोकन जारी हुए।
विज्ञापन

किसानों ने गन्ना सप्लाई पर्चियां मिलने पर तेजी से गन्ना कटाई शुरू कराई। सूत्र बताते हैं कि इसके अलावा कई गन्ना माफिया भी सांठगांठ कर गन्ना क्रय केंद्रों की जगह चीनी मिल गेट पर गन्ना तुलवाने आ पहुंचे। इसको लेकर चीनी मिल में गन्ना से भरे वाहनों की कतारें लग गईं। यार्ड में जगह न होने को लेकर चीनी मिल प्रशासन ने रात करीब दो बजे गन्ना किसानों को टोकन जारी करना बंद कर दिया। इससे आसाम हाइवे पर गन्ना से भरे किसानों की लंबी लाइनें लग गई। जाम से लोगों को भारी असुविधा हुई। उधर, टोकन न मिलने से किसानों को घंटों चीनी मिल के बाहर सड़क पर गन्ना से भरे वाहनोें के साथ इंतजार करना पड़ा। टोकन जारी न होने के विरोध में गुरुवार को गन्ना किसानों ने हंगामा कर चीनी मिल अफसरों का घेराव किया। हंगामा कर रहे किसानों का कहना था कि चीनी मिल यार्ड को समतलीकरण की कई बार मांग की गई। यार्ड का मैदान ठीक न होने से गन्ना से भरे वाहन पहले जैसी संख्या में अंदर नहीं आ पा रहे है। किसानोें ने कुछ गन्ना माफियाओं पर सांठगांठ कर क्रय केंद्र के अलावा चीनी मिल गेट पर गन्ना तौलवाने का आरोप लगाया। किसानों की समस्या पर सीसीओ ने मौके पर पहुंचकर टोकन जारी कराना शुरू किया। तब किसानों ने राहत की सांस ली। भाकियू वरिष्ठ जिलाउपाध्यक्ष मंजीत सिंह ने बताया कि चीनी मिल अफसरों से पहले ही यार्ड को ठीक कराने की मांग की गई थी। किसानों की समस्याओं को बर्दास्त नहीं किया जाएगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X