'My Result Plus
'My Result Plus

गड़बड़ियों के चलते 3 गांवों के प्रधान निलंबित

Badaun Updated Thu, 27 Dec 2012 05:30 AM IST
बदायूं। विभिन्न अनियमितताओं के चलते विकास खंड अंबियापुर और इस्लामनगर के तीन ग्राम प्रधानों को डीएम ने निलंबित कर दिया है और उनकी जगह गांव के विकास कार्यों और देखभाल की देखरेख समितियों को सौंपी है। अनियमितताओं की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी गई है।
विकास खंड अंबियापुर की ग्राम पंचायत बमेढ़ कटिन्ना की प्रधान पार्वती, विकास खंड इस्लामनगर की ग्राम पंचायत जगत पीपरी के प्रधान नासिर अली और इसी विकास खंड की ग्राम पंचायत फिरोजपुर मुगरा के प्रधान महेंद्र पाल को अभिलेख में हेराफेरी, ग्राम निधि के पैसे का दुरुपयोग करने समेत तमाम गंभीर आरोपों के चलते डीएम ने निलंबित कर दिया है। प्रधानों के निलंबित होने से गांवों में विकास कार्य प्रभावित न हों इसके लिए बुधवार को डीएम जीएस प्रियदर्शी ने तीनों गांवों में तीन-तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। गांव बमेढ़ में कुंती देवी, फूलवती और राजेंद्र, गांव जगत पीपरी में आरिफ अली, रईस अहमद और निशा बेगम तथा गांव फिरोजपुर मुमरा में बृजवती, मोरकली और राजीव कुमार को गांव का कार्यभार सौंपा है।

गैरहाजिर पाए जाने पर दो सफाई कर्मी सस्पेंड
इस्लामनगर ब्लॉक की ग्राम पंचायत जाफरपुर के राजस्व ग्राम धिमरपुरा के राकेश कुमार और विकास खंड दहगवां के गांव मिर्जापुर मोहसमपुर के रामऔतार को डीएम ने बुधवार को सोसल ऑडिट के दौरान सफाई कर्मी गैरहाजिर पाए गए। सफाई कर्मियों के न आने से गांव में गंदगी फैली थी। जिस कारण आए दिन ग्रामवासियों की शिकायत आती थी। जिस कारण सफाई कर्मी राकेश को निलंबित तथा रामऔतार को डीएम जीएस प्रियदर्शी ने डीपीआरओ एके शाही को निलंबित करने के आदेश दिए हैं।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: गाजियाबा गैंगरेप की जांच के लिए कैंडल मार्च, बीजेपी सांसद ने की ये मांग

दिल्ली के गाजीपुर इलाके में 11 साल की बच्ची से दुष्कर्म का मामला जोर पकड़ता जा रहा है। इस मामले को लेकर दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने पीड़िता के परिजनों से उनके घर जाकर मुलाकात की।

26 अप्रैल 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen