बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

श्रेष्ठ कार्यो से बनती है पहचान : विमला

Badaun Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

बिल्सी। तहसील क्षेत्र के गांव खितौरा स्थित अनिल मैमोरियल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आज तीन दिवसीय स्काउट-गाइड प्रशिक्षण शिविर का सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ शुभांरभ किया गया। पहले दिन यहां ध्वजों की जानकारी के अलावा प्राकृतिक आपदाओं से बचने का प्रशिक्षण दिया गया। प्रधानाचार्या विमला रानी ने स्काउट ध्वज फहराया और कहा कि श्रेष्ठ कार्यो से ही व्यक्ति की पहचान होती है। इसलिए मानव को अपने समय का सही उपयोग करना चाहिए। जिला प्रशिक्षण कमिश्नर संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि स्काउटिंग जीवन जीने की अनुपम कला है। इस कला का अभ्यास युवाओं में निस्वार्थ सेवा और देश भाक्ति का जज्बा पैदा करता है। शिविर में 17 टोलियां बनाई गई और उनको स्काउटिंग की विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई। स्काउट सार्थक वार्ष्णेय ने बच्चों को नियम, प्रतिज्ञा, झंडा गीत, प्रार्थना और स्काउट आंदोलन, टोली निर्माण नायक की नियुक्ति और उसके उत्तरदायित्वों आदि का प्रशिक्षण दिया। इस मौके पर रामवीर सिंह, महावीर सिंह, रामखिलाड़ी यादव, नवल किशोर यादवस बनवारी लाल शाक्य, मुरारी लाल, चंद्रकेश, मोहन गंाधी आदि मौजूद रहे।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X