बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

हजारों विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति में अड़ंगा

Badaun Updated Sun, 14 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

बदायूं। सॉफ्टवेयर के इंतजार में 48 हजार विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति नहीं मिल पा रही है। ये विद्यार्थी कक्षा 11-12 के हैं। इनको वजीफा दिलाने के लिए समाज कल्याण विभाग में तो अभी डाटा फीडिंग का काम भी शुरु नहीं हुआ है। माध्यमिक शिक्षा विभाग ने तो लाभार्थी विद्यार्थियों की सूची तक नहीं बनाई। समाज कल्याण विभाग के विद्यार्थी हर रोज चक्कर काट रहे हैं, लेकिन लाभ नहीं मिल पा रहा है।
विज्ञापन

हर साल विद्यार्थियों के प्रवेश के बाद जुलाई माह में कक्षा 11-12 के विद्यार्थियों को छात्रवृति देने के लिए फीडिंग शुरु हो जाती थी। उन्हें कोर्स के अनुसार सालाना 1200 से 1400 रुपये मिलतेे थे। इस बार सेमेस्टर वाइज लाभ देने के लिए आदेश हैं, जो विद्यार्थियों को कोर्स समाप्ति के अनुसार मिलेगा। आदेश आ गए, लेकिन समाज कल्याण विभाग ने इसके लिए फीडिंग का काम नहीं शुरु कराया। सॉफ्टवेयर न आने की बात कहकर विद्यार्थियों को चंपत कर दिया जाता है। मालूम हो कि जिले के 196 स्कूलों में लगभग 48 हजार विद्यार्थी इन कक्षाओं में पढ़ते हैं।

वर्जन----
शासन से सॉफ्टवेयर न मिलने के कारण छात्रवृत्ति के लिए फीडिंग नहीं हो पा रही है। इस बार सेमेस्टर वाइज लाभ दिया जाएगा।-कुसुम कुमरा, जिला समाज कल्याण अधिकारी
वर्जन--
फीडिंग का काम समाज कल्याण विभाग का है। हमारे पास जिन विद्यालयों के विद्यार्थियों के फार्म आए हैं वह संबंधित विभाग को भिजवा रहे हैं।-सुशीला अग्रवाल, डीआईओएस

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X