विज्ञापन

कटौती से खफा किसान बैठे धरने पर

Badaun Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। जिले में हो रही बिजली की अघोषित कटौती से बौखलाए किसानों ने भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले बृहस्पतिवार को विद्युत वितरण खंड कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। मंडल प्रभारी जकिर हुसैन उर्फ बबलू ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार किसानों की विरोधी है।
विज्ञापन
खंड कार्यालय पर प्रदर्शन के दौरान मंडल प्रभारी ने कहा कि किसानों की हितैषी होने का दावा करने वाली सरकार वायदा खिलाफी कर रही है। इसका खामियाजा सरकार को लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा। जिलाध्यक्ष नरेशपाल सिंह ने बताया कि जिले में बिजली कटौती चरम पर है। पर्याप्त आपूर्ति न मिलने की वजह से किसानों की फसलें चौपट हो रही हैं। चेतावनी दी यदि समय रहते कटौती में सुधार नहीं हुआ तो किसान बिजलीघरों का घेराव कर अनिश्चितकालीन धरनेे पर बैठ जाएंगे। इस मौके पर दुर्गपाल सिंह, कौशल कुमार, वेदप्रकाश, साहब सिंह, कृपाल सिंह, हिमांशु पटेल और ब्रजपाल आदि मौजूद रहे।
बिजली अभियंताओं का सत्याग्रह
बदायूं। राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन की केंद्रीय कार्यकारिणी के आह्वान पर बृहस्पतिवार को कर्मचारियों ने बिजली दफ्तर पर सत्याग्रह किया। फिर अपनी मांगों के संबंध में एक ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा।
कर्मचारी लंबे समय से संगठन और ऊर्जा प्रबंधन के बीच हुए समझौैते और सहमति के अनुरूप जनवरी 1996 से पुनरीक्षित वेतन संरचना में अवर अभियंता का वेतनमान 6500 से 11000 रुपये और जनवरी 2006 से पुनरीक्षित वेतन संरचना में पे बैंड -2 में प्रविष्ट वेतन 12090 और ग्रेड वेतन 4800 करने, समयबद्घ वेतनमान व्यवस्था के अंर्तगत प्रथम, द्वितीय और तृतीय समयबद्घ वेतनमान संबंधी स्पष्टीकरण आदेश जारी किए जाने, फरवरी 2009 के पहले और बाद में नियुक्त प्रोन्नत अवर अभियंता और सहायक अभियंता के प्रविष्ट वेतनमान में व्याप्त भेदभाव को समाप्त किए जाने समेत 14 बिंदुओं का मांग पत्र पावर कारपोरेशन अध्यक्ष को भेजा गया। संगठन शाखा अध्यक्ष राजाराम ने बताया कि मांगों का निस्तारण न होने पर संगठन 27 अक्तूबर को परियोजनाओं और क्षेत्र स्तर पर सत्याग्रह कर ज्ञापन सौंपेगा और इसके बाद पांच नवंबर को निगम स्तर पर सत्याग्रह होगा। इस मौके पर राजाराम, प्रहलाद कुमार, शील प्रकाश पाण्डे, सीके पटेल, बांकेलाल, एसएन सिंह, सुरेश कुमार आदि मौजूद रहे।

तीन साल में भी नहीं बदला टूटा बिजली पोल
लखनपुर। ब्लाक क्षेत्र के गांव लखनपुर में तीन वर्ष पहले जंक लगने से बिजली पोल टूटकर मकान से टिक गया था। इसकी शिकायत गांव वालों ने जेई से कई बार की लेकिन तीन साल बीतने के बाद भी खंभा नहीं बदला गया।
जिला मुख्यालय से छह किलोमीटर दूर दातागंज रोड पर स्थित गांव लखनपुर में करीब तीन साल पहले बिजली का खंभा जंक लगने के कारण टूट कर मकान से टिक गया। पिछले तीन साल से इसी टूट खंभे से बिजली सप्लाई जारी है। बिजली के तार कई मकानों कोे छू रहे हैं। कई बार गांव वाले इसकी शिकायत जेई और विभागीय अधिकारियों से कर चुके हैं लेकिन तीन साल में भी विभाग ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। मकानोें से छू रही बिजली लाइनों से करंट लगनेे से कई बंदरोें की मौत भी हो चुकी है। गांव वालों ने अब डीएम से बिजली पोल बदलवाए जाने की मांग की है।
बिजली न मिलने से लोग परेशान
इस्माइलपुर। बिजली उपकेंद्र असरासी से रमजानपुर, मिढौली, मोहम्मदगंज, बादुल्लागंज, खितौलिया, बेहटा डम्मन नगला, कल्लू नगला, लोहाठेर समेत दो दर्जन गांवों मे जाने वाली बिजली लाइन के तार करीब एक सप्ताह पहले चोेर काट कर ले गए। बिजली न मिलने के कारण किसान अपने खेतों की सिंचाई नहीं कर पा रहेहैं जिससे फसलेें सूख रही हैं और उद्योग धंधे चौपट हो गए हैं। गांव वालों ने कई बार नई लाइन डलवाने की मांग की लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। गांव वालों ने डीएम से बिजली सप्लाई सुचारू कराने की मांग की है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

MISSION GIRL: ये 4 सिंपल हैक्स कर देंगे आपकी लाइफ आसान

आज हम सबकी लाइफ काफी बिजी हो गई है। ऐसे में हम छोटी-छोटी प्रॉब्लम के लिए गूगल की मदद लेते हैं, लेकिन आज हम आपको ऐसे सिंपल हैक्स बताएंगे जो हर लड़की को पता होने चाहिए और य हैक्स आपकी कई प्रॉब्लम को दूर कर देगा।

26 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree