11 चौकियों को थाना बनाने की तैयारी

Badaun Updated Mon, 03 Sep 2012 12:00 PM IST
बदायूं। यदि सब कुछ ठीकठाक रहा तो जल्द ही जिले के थानों की संख्या बढ़ जाएगी। जिले की 11 पुलिस चौकियों को थाने का दर्जा मिलेगा। सूबे की पुलिस के मुखिया डीजीपी ने थाना बनाने के मानक निर्धारित कर एसपी से इसकी सूची मांगी है। वर्तमान में पुलिस महकमे के अधिकारी प्रशासनिक अधिकारियों की सहायता से मानक तैयार करने में जुटे हैं।
जिले में अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है। इसकी एक वजह यह भी है कि अधिकांश थानों की सीमा लंबी है। ऐसे में पुलिस हर समय अपने इलाके की निगरानी नहीं कर पाती। इसका सीधा फायदा आपराधिक प्रवृति के लोगों को मिलता है। अपराधी इन इलाकों में सुनयोजित तरीके से लूट, हत्या और अपहरण सरीखी वारदातों को अंजाम दे देते हैं। पुलिस जब तक घटनास्थल पर पहुंचे, इससे पहले ये अपराधी दूर निकल जाते हैं और शुरू हो जाता है पुलिस के अंधेरे में हाथपांव मारने का दौर।
इस धरपकड़ में कई बार बेगुनाह लोग भी पुलिस के कोप का शिकार हो जाते हैं। वहीं वारदात कर चुके अपराधियों का हौंसला बढ़ने पर वे पुन: किसी न किसी घटना को अंजाम दे जाते हैं। इन हालातों के मद्देनजर डीजीपी ने जिले में थानों की संख्या बढ़ाने का खाका तैयार किया है, ताकि समय रहते पुलिस अपराधियों तक पहुंच जाए और वारदात टल जाए।

थाने को जरूरी हैं ये मानक
पुलिस चौकी को थाने का दर्जा देने के लिए मानक तय किए गए हैं। इसके तहत शहर आबादी से जुड़ी पुलिस चौकी में 50 हजार की आबादी होना चाहिए, जबकि देहात की चौकी की आबादी 75 हजार निर्धारित की गई है। थाने का क्षेत्र 113 वर्गमील का होना जरूरी है।

इन चौकियों को मिलेगा दर्जा
थाने का दर्जा मिलने वाली पुलिस चौकियों की फेहरिस्त में सिविल लाइंस थाने की शेखूपुर और नवादा पुलिस चौकी हैं। इसके अलावा उझानी कोतवाली की कछला चौकी, अलापुर की ककराला चौकी, दातागंज कोतवाली की समरेर पुलिस चौकी और हजरतपुर थाने की लालपुर खादर चौकी है। वहीं इस्लामनगर थाने की रुदायन चौकी, फैजगंज थाने की आसफपुर, बिसौली की दबतोरी, बिल्सी थाने की रिसौली और नाधा पुलिस चौकी शामिल की गई हैं।
... तो हो जाएंगे 33 थाने
महिला थाने को शामिल करके वर्तमान में जिले में 22 थाने हैं। यदि डीजीपी की मंशा परवान चढ़ती है तो जिले में थानों की संख्या बढ़कर 33 हो जाएगी। जिक्र कर दें कि पहले जिले में 25 थाने थे लेकिन नए जिला संभल में गुन्नौर तहसील शामिल होने की वजह से तीन थाने रजपुरा, धनारी और गुन्नौर जिले के थानों से कट गए हैं।

फिलहाल इन चौकियों के क्षेत्र की आबादी समेत अन्य मानकों की पड़ताल की जा रही है। इसमें प्रशासन से भी मदद ले रहे हैं। जल्द ही प्रस्ताव बनाकर भेज दिया जाएगा। आगे की कार्रवाई शासन से होगी।
मंजिल सैनी, एसपी

Spotlight

Related Videos

लोग जितने में नाटक तैयार करते हैं उतने की हम चाय पी जाते हैं: अोम कटारे

रंगमंच के बहुचर्चित डायरेक्टर ओम कटारे ने अमर उजाला टीवी से खास बातचीत की है। 40 वर्षों से अधिक थियेटर के अनुभव को ओम कटारे ने समझाने की कोशिश की। देखिए, संवाददाता हिमांशु शुक्ला की स्पेशल रिपोर्ट।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper