धनुपुरा मामले की जांच शुरू, एसओ तलब

Badaun Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं। किसी आपराधिक रिकार्ड के बिना चार लोगों की हिस्ट्रीशीट खोले जाने की पुलिसिया कारगुजारी की जांच शुरू हो गई है। एसपी मंजिल सैनी ने बृहस्पतिवार को एसओ कादरचौक जेपी यादव को तलब किया है। एसओ को थाने का रजिस्टर नंबर आठ साथ लाने की हिदायत दी गई है। हालांकि विवेचक बनाए गए सीओ उझानी इस मामले की छानबीन शुरू नहीं कर सकेहैं।
बताते चलें कि कच्ची शराब की तस्करी के लिए बदनाम रहे थाना कादरचौक क्षेत्र केगांव धनुपुरा के चार लोगों की थाने में हिस्ट्रीशीट खुली है। सन 1986 में एक रजिस्टर गायब होने के बाद कोरम पूरा करने के लिए जल्दबाजी में उठाया गया पुलिस का यह कदम अब गले की फांस बन चुका है। थाने केरजिस्टर में इन हिस्ट्रीशीटरों का आपराधिक रिकार्ड नहीं है। वहीं एसपी आफिस में भी ऐसा कोई सबूत नहीं है, जिसके आधार पर इन लोगों को हिस्ट्रीशीटर करार दिया जा सके। अमर उजाला में यह खबर प्रकाशित होने के बाद एसपी ने सीओ उझानी एमएस राणा को इस मामले में जांच के निर्देश दिए थे लेकिन तीसरे दिन भी विवेचक पहल नहीं कर सके।
एसपी ने बताया कि बृहस्पतिवार को एसओ कादरचौक को बुलाया है। उनसे इन लोगों के व्यवहार और आपराधिक इतिहास की जानकारी ली जाएगी।

Spotlight

Related Videos

EXCLUSIVE: ...तो पद्मावती ‘बादशाह’ कि होती

फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर चौतरफा बवाल चल रहा है। लेकिन हम आपको फिल्म ‘पद्मावत’ से जुड़े एक रहस्य के बारे में बताएंगे। क्या आपको पता है राजा रावल रतन सिंह के रोल के लिए शाहिद कपूर संजय लीला भंसाली की दूसरी पंसद थे।

24 जनवरी 2018