विज्ञापन
विज्ञापन

एक दर्जन मकानों में पड़ी दरारें

Badaun Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
सहसवान(बदायूं)। पहाड़ों पर हुई बारिश से गंगा नदी में आई बाढ़ का पानी तेलिया नगला गांव में घुसकर तबाही मचाने लगा है। दर्जनभर से अधिक मकानों में दरारें पड़ गई हैं और गांव में तीन से चार फुट पानी बह रहा है। प्राथमिक विद्यालय भी जलमग्न है। वहीं मकान को तोड़ते समय पटिया गिरने से एक युवक घायल हो गया। एसडीएम और प्रभारी निरीक्षक ने गांव का जायजा लिया। गांव के कुछ महिला और पुरुषों ने राजस्व निरीक्षक से कहा कि वह पहले उनका सामान सुरक्षित जगह पहुंचाएं, उसके बाद वह जाएंगे। इसको लेकर निरीक्षक और सिपाहियों से ग्रामीण भिड़ गए। बुधवार को गंगा का जलस्तर कम होने से प्रशासन को जरुर राहत मिली है। तीन अन्य गांवों को भी खाली करा लिया गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
तेलिया नगला गांव में जाने के सभी रास्ते बंद हो चुके हैं। एसडीएम रामअभिलाष पटेल और प्रभारी निरीक्षक आरएस सरोज ने पुलिस फोर्स और राजस्व विभाग की टीम के साथ नाव से गांव जाकर स्थिति देखी। गांव के अधिकांश ग्रामीण सड़क पर शरण लिए हुए हैं। एसडीएम के गांव से चले आने के बाद कुछ महिला और पुरुषों ने गांव से जाने से इनकार कर दिया। राजस्व निरीक्षक वीरेंद्रपाल और पुलिस के सिपाही चंदन सिंह तथा महेश के समझाने के बाद भी वह नहीं मानी और झगड़े पर आमादा हो गए।
तेज धार से सौदान, चेतराम, हजारी, कडडे, ऋषिपाल, रामा, बिचौली, मुन्नालाल आदि के मकानों में दरारें पड़ गई हैं। मकान कटने की आशंका से दर्जनों ग्रामीणों ने अपने मकान को स्वयं गिराकर ईटें और अन्य सामान सड़कों पर ला रहे हैं। मकान तोड़ते समय रामलाल का पुत्र अनार सिंह पटिया गिर जाने से घायल हो गया। जिसको उपचार के लिए सहसवान के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ग्रामीणों की मदद के लिए तहसील प्रशासन ने चार नाव लगाई हैं। तहसील प्रशासन की ओर से बाढ़ पीड़ितों को भोजन के पैकेट वितरित किए गए।
गंगा का पानी गिरधारी नगला, आसे नगला और परशुराम नगला से लगकर बह रहा है। गंगा गांव चौकीदार नगला के पास तेजी से कटान करती हुई गांव की ओर बढ़ रही है। एक दिन में सौ मीटर से अधिक गंगा कटान कर चुकी है। चौकीदार नगला गांव गंगा से महज 150 मीटर दूर रह गया है। ग्रामीणों की सैकड़ों बीघा धान की फसल समा चुकी है।

रैपुरा स्कूल के कमरे भी चपेट में
उसहैत। गंगा के उस पार के गांव रैपुरा के प्राथमिक स्कूल के दो कमरे कट गए हैं। गंगा का पानी तेजी से कटान कर रहा है। इस गांव के अब तक दो दर्जन से अधिक मकान गिर गए। कदमनगला, जटा आदि में भी पानी भरा हुआ है। गंगा के इस पार के दर्जनभर गांवों में राहत सामग्री नहीं पहुंची है। इससे लोग परेशान हैं। एसडीएम दातागंज आरपी कश्यप ने रैपुरा के 34 परिवार को 1.50 लाख रुपये राहत के रुप में दिए हैं। इनके मकान कट गए थे। गंगा के उस पार के लोगों को कटरासहादतगंज बाढ़ चौकी पर डॉ. महेंद्र की टीम ने दवाएं दी। बाढ़ खंड एक्सईएन डीके जैन का कहना है कि हरिद्वार, बिजनौर में 70 हजार क्यूसेक पानी रह गया है। इससे पानी यहां भी कम होगा। बुधवार को 1.48 लाख क्यूसेक पानी गंगा में चल रहा है।

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रोहित शेखर की मां उज्जवला तिवारी ने बहू पर उठाए सवाल, यहां देखिए उज्जवला तिवारी का बयान

रोहित शेखर तिवारी की हत्या का जैसे ही खुलासा हुआ वैसे ही मां उज्जवला तिवारी ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है। मीडिया के सामने उज्जवला तिवारी ने क्या कहा यहां देखिए।

20 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election