विज्ञापन
विज्ञापन

ऑफिस में भी नहीं है हिस्ट्रीशीटरों का रिकार्ड

Badaun Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
बदायूं/कादरचौक। गांव धनुपुरा के चार हिस्ट्रीशीटरों का आपराधिक रिकार्ड थाने से ही नहीं,एसपी कार्यालय से भी गायब है। खुद एसपी मंजिल सैनी ने यह बात स्वीकार की है। मामले की गंभीरता को भांपते हुए उन्होंने इसकी जांच सीओ उझानी एमएस राणा को सौंप दी है। उनका कहना है कि जल्द ही इस मामले से पर्दा उठा दिया जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
जिक्र कर दें कि थाना कादरचौक से सन 1986 में गायब हुए एक रजिस्टर ने गांव धनुपुरा के लोगों की खुशियों पर ग्रहण लगा दिया था। जल्दबाजी में पुलिस ने ऐसे चार लोगों की हिस्ट्रीशीट खोल दी, जिनके खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नहीं था। सोमवार को अमर उजाला ने इसका खुलासा किया तो पुलिस महकमे में अफरातफरी का माहौल कायम हो गया।
एसपी मंजिल सैनी ने थाने के रजिस्टर संख्या आठ तलब करने के साथ अपने आफिस के रिकार्ड में हिस्ट्रीशीटरों के खाके खंगलवाए लेकिन वहां कोई रिकार्ड नहीं मिला। एसपी ने बताया कि अभी तक कि जांच में यह सामने आया है कि पांच साल पहले किन्हीं कारणों के चलते यह रिकार्ड नष्ट कर दिया गया था। घटना काफी पुरानी है। फिलहाल जांच करवा रहे हैं कि किस आधार पर इन लोगों की हिस्ट्रीशीट खोली गई, रिकार्ड क्यों और किसके निर्देश पर नष्ट किया गया। इस बिंदु पर भी जांच की जा रही है। प्रकरण लंबा है, इसलिए जांच में वक्त लगेगा।
ग्रामीणों के उत्पीड़न के बारे में उनका कहना है कि शराब ठेकेदारों के लोगों के दबिश में साथ जाने पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। इसके लिए उन्होंने लिखित में आदेश भी दिए हैं।

Recommended

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
HP Board 2019

HP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

देश की समुद्री सीमा की रखवाली करेगा ये विध्वंसक जहाज

भारतीय नौसेना ने शनिवार को आईएनएस इंफाल युद्धपोत को पानी में उतारा। इसे भारत ही में डिजाइन और बनाया गया है और यह प्रॉजेक्ट 15 बी के तहत बना तीसरा युद्धपोत है।

21 अप्रैल 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election